निगम की लापरवाही से एनआईटी विधानसभा की सडक़े बनी तालाब

0
93

Faridabad/Alive News : मंगलवार सुबह कुछ घंटो की बारिश से एक तरफ जहां मौसम सुहावना हुआ है वहीं दूसरी तरफ एनआईटी क्षेत्रवासी इस बारिश के सितम की मार झेल रहे है। तस्वीरों में जलमग्न हुई एनआईटी विधानसभा की यह सीमेंटिड सडक़े नगर निगम को हकीकत का आईना दिखा रही है।

उधर, एनआईटी के विधायक नगेंद्रर भड़ाना दावा करते नही थकते कि मनोहर सरकार के करोड़ो रूपए की ग्रांट से एनआईटी क्षेत्र का विकास किया जा रहा है, लेकिन घुटने तक डूबे लोगों के हालत इस विकास की असलियत खुद बयान कर रहे है। पानी से लबालब सडक़े सरकार पर कई सवाल खड़े कर रही है, कि करोड़ो रूपए पानी की तरह बहाने के बाद भी क्यों लोग खुद पानी में डूब रहे है।

यह घुटनों तक डूबे लोगों के हालत सरकार से जबाव मांग रहे है क्या सच में विकास धरातल पर हुआ या सिर्फ खानापूर्ति के लिए फाईलों को भरा गया। एनआईटी क्षेत्र में इस बरसात के बाद कोई एक ऐसी गली, चौक-चौराहा यहां तक की मुख्य सडक़े नही होगीं जो तालाब बनी हुई न प्रतीत हो रही हो। एनआईटी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले नंगला रोड़, डबुआ कॉलोनी, 60 फुट रोड़ से लेकर गाजीपुर गांव यंहा तक की मुख्य सडक़े प्याली चौक से लेकर हार्डवेयर तक भरे पानी ने निगम के दावों को धो कर रख दिया है। लेकिन कड़वा सच तो यह है कि जनता के द्वारा चुने नेताओं ने उन्हें पानी के तालाब में डुबने के लिए छोड़ दिया है और खुद चैन की नींद सो रहे है।

जनता से कैसे बचते रहे विधायक
उक्त समस्या को लेकर जब एनआईटी के विधायक नागेन्द्र भड़ाना से संपर्क किया गया तो, उन्होंने हमारी कॉल रीसिव नही की। क्योंकि शायद विधायक के पास मीडिया और जनता के फोन अधिक पहुंच रहे होंगे। इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि इस विकराल समस्या पर विधायक को जबाव देते नहीं बन रहा है। लेकिन जनता इसका जवाब आगामी विधानसभा चुनाव में विधायक को जरूर देगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here