एनएसयूआई की मुहिम के चलते प्रदेश भर में बढ़ी फीस हुई कम : कृष्ण अत्री

0
57

एनएसयूआई की मेहनत लाई रंग, प्रदेश की 9 यूनिवर्सिटी के सभी कॉलेजों में बढ़ी फीस हुई कम

Faridabad/Alive News: आज एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं के साथ छात्रों ने मिलकर फीस बढ़ोतरी वापसी होने पर पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज पर छात्रों और अध्यापकों में लड्डू बांटकर जश्न मनाया तथा कॉलेज में सरस्वती माता जी की मूर्ति पर मालार्पण करके आशीर्वाद लिया और कॉलेज की प्राचार्या प्रीता कौशिक का भी धन्यवाद किया। इस कार्यक्रम का आयोजन एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में किया गया।

एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने बताया कि अबकी बार उच्चतर शिक्षा विभाग ने हरियाणा के सभी कॉलेजों के सभी कोर्स की फीस में 2000 से 3000 रुपये की बढ़ोतरी की थी। उन्होंने बताया कि ज्यादातर बढ़ोतरी स्नातक कक्षाओं में की गई थी।

अत्री ने बताया कि नियम के अनुसार फीस बढ़ोतरी इस वर्ष से दाखिला लेने वाले बच्चो पर लागू होनी चाहिए लेकिन उच्चतर विभाग ने सत्र 2017 और 2018 में दाखिला लिए हुए छात्रों की द्वितीय और तृतीय वर्ष के छात्रों की फीस को भी दुगना किया करने का काम किया था। इस मामले को तुरंत संज्ञान में लेते हुए एनएसयूआई फरीदाबाद ने प्रदेश में सबसे पहले इसके खिलाफ 20 जून को ही बिगुल फूंक दिया था। उनके बाद प्रदेश भर में एनएसयूआई ने आंदोलन किए जब जाके खट्टर सरकार ने बढ़ी हुई फीस वापिस ली है।

अत्री ने बताया कि एनएसयूआई की मुहिम के चलते हुए प्रदेश भर की 9 यूनिवर्सिटी के सभी सरकारी, अर्द्धसरकारी और प्राइवेट कॉलेजो की बढ़ी हुई फीस वापिस की है। फीस बढ़ोतरी वापिस होने से प्रदेश भर के छात्रों में खुशी की लहर है। उन्होंने कहा कि जब जब खट्टर सरकार इस तरह से छात्रों को प्रताण्डित करने का काम का करेंगी तब तब एनएसयूआई छात्रों की ढाल बनकर खट्टर सरकार से लड़ाई लड़ेंगी। इसलिए सरकार को छात्रों हितों को ध्यान में रखते हुए फैसले लेने चाहिए ताकि गरीब,मजदूर, किसान परिवार के बच्चे भी शिक्षा से वंचित ना रह सके।

इस मौके पर विकास फागना, आरिफ खान, दुर्गेश दुग्गल, दीपक राजपूत, विशाल वशिष्ठ, सोनू सिंह, हरीश, गुलशन कौशिक, सागर नागर, शिवम, संजीव अत्री, सुनील, अनिल, रवि, अजय, कुणाल आदि मौजूद थे।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here