Faridabad/Alive News : एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने एमडीयू के तुगलकी फरमान को वापिस कराने के लिए बल्लभगढ़ स्थित अग्रवाल कॉलेज के गेट पर हस्ताक्षर अभियान चलाया तथा अग्रवाल कॉलेज के प्रिंसिपल कृष्णकांत गुप्ता को ज्ञापन सौंपा । हस्ताक्षर अभियान हरियाणा एनएसयूआई प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री की अध्यक्षता में किया गया ।

इस दौरान कृष्ण अत्री ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की खट्टर सरकार छात्रों के विरुद्ध फैसले लेने में सक्षम है । पिछले 3 वर्षों में भी खट्टर सरकार ने इसी तरह के नियमो से छात्रों को परेशान किया था । एक तरफ तो कॉलेजो में स्टाफ की कमी है, मूलभूत सुविधाएं पूरी नही है और दूसरी तरफ सूबे की खट्टर सरकार आये वर्ष तुगलकी फरमान जारी करके छात्रों को मानसिक ताडऩा देती रहती है ।

अत्री ने कहा कि अगर यूनिवर्सिटी प्रशासन और खट्टर सरकार को कोई नियम लागू करना है तो पहले छात्रों को पढ़ाई वाला माहौल दे, कॉलेजो में स्टाफ की कमी को दूर करें, यूनिवर्सिटी की रिजल्ट प्रणाली में सुधार करें । सारी सुविधाएं मिलने के बाद छात्र किसी भी नियम को स्वीकार कर लेंगे ।

वही छात्र नेता विकास फागना और फरीदाबाद जिला मीडिया कोऑर्डिनेटर अजित त्यागी ने एमडीयू के नियम को दोहराते हुए संयुक्त रूप से कहा कि एमडीयू की तरफ से फिर इस बार तुगलकी फरमान आया है जिसके तहत तीसरे सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के पचास प्रतिशत विषय मे तथा पांचवे सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के सौ प्रतिशत विषयों में पास होना अनिवार्य है । खट्टर सरकार को जल्द छात्रहितों में फैसला लेकर इस तुगलकी फरमान को वापिस लेना चाहिए ।

इस मौके पर मुख्य रूप से जिला महासचिव रूपेश झा, शुभम पंडित, नेहरू कॉलेज उपाध्यक्ष अभिषेक वत्स, सौरभ देशवाल, कृष्णा चौहान, मयंक, कपिल, आकाश भाटी , आकाश गुर्जर, प्रदीप जांगिड़ आदि मौजूद थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here