Kurukshetra/Alive News : बुधवार को गांव बारना में कृषि एवं कल्याण विभाग द्वारा किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में जीरो बजट फार्मिंग के मास्टर टे्रनर व कृषि विकास अधिकारी डा. वजीर सिंह ने किसानों को गन्ने का अधिक उत्पादन लेने बारे जागरूक किया। डा. वजीर सिंह ने किसानों को गन्ने की फसल के लिए खेत का चयन एवं तैयारी, बुआई का समय, बीज, गन्ना एवं मिट्टी के उपचार, पंक्ति से पंक्ति की दूरी एवं गहराई, गन्ने की विभिन्न किस्मों, उर्वरक के प्रयोग, सिंचाई व खरपतवार नियंत्रण, गन्ने के साथ सहफसली खेती एवं फसल सुरक्षा के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने किसानों को जानकारी देते हुए बताया सरकार द्वारा उन्नत गन्ना उत्पादन के लिए सहायता दी जा रही हैं जिसमें टीएमएस स्कीम के तहत वाइड रो स्पेसिंग, सिंगलबैड प्लांटिंग व मल्टीपल रैटूनिंग के लिए 3 हजार रूपए प्रति एकड़ सहायता दी जा रही है। वहीं आरकेवीवाई स्कीम के तहत उन्नत गन्ना उत्पादन के लिए गन्ना मल्टीपल रैटूनिंग व गन्ना अंतरफसलीय के लिए 3 हजार प्रति एकड व गढ़ा विधि के साथ टपका सिंचाई के लिए 10 हजार प्रति एकड़ सहायता राशि दी जाएगी। साथ ही एनएफएसएम स्कीम के तहत अंतरफसलीय के लिए 2800 रूपए प्रति एकड़ सहायता दी जा रही है। डा. वजीर सिंह ने कहा कि किसान अच्छी तरह से गन्ने की फसल का रखरखाव कर अच्छा मुनाफा ले सकते हैं।

इस मौके पर कृषि विकास अधिकारी डा. दिनेश शर्मा, तकनीकी मैनेजर सतबीर खटकड़ व सीएसएसआरएआई करनाल के विशेषज्ञ डा. राजकुमार ने भी गन्ने की उन्नत किस्मों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। गोष्ठी में दी बारना प्राईमरी ऋण एवं सहकारी समिति के प्रबंधक महेंद्रपाल शर्मा ने किसानों को सहकारी समिति द्वारा दी जा रही ऋण स्कीमों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होने किसानों से आह्वान किया कि वे समय पर ऋण का भुगतान कर सरकार द्वारा दी जा रही स्कीमों का फायदा उठाएं। इस मौके पर रोणकी राम, रतिराम शर्मा, पंच रामफल, कृष्ण सहारण, अजमेर सिंह, सुखदेव सिंह, जागेराम, सुरेंद्र कुमार व अन्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here