Palwal/Alive News : मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला तथा पलवल के एसडीएम जितेंद्र कुमार ने शुक्रवार को जैंदीपुरा मौहल्ला में स्थित बारातघर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से नागरिकों के स्वास्थ्य की जांच हेतु लगाए गए एक दिवसीय मेगा स्पेशल आउटरिच कैंप (फ्री मेडिकल कैंप) का रिबन काटकर शुभारंभ किया। मंगला व एसडीएम जितेंद्र कुमार ने स्वास्थ्य जांच शिविर में लोगों को दी जा रही स्वास्थ्य सेंवाओं का मौके पर निरीक्षण भी किया।

दीपक मंगला ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इस तरह का यह पहला मेगा चिकित्सा कैंप है। इस कार्यक्रम से समाज में एक जागरूकता आई है। इस तरह के चिकित्सा कैंप के आयोजन से लोग अपने स्वास्थ्य की जांच करवाकर भरपूर लाभ उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि राय सरकार इस योजना के अंतर्गत गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ देने के लिए प्रयासरत है।

सिविल सर्जन डा. प्रदीप शर्मा ने बताया कि केंद्रीय सरकार की ओर से आयुष्मान भारत योजना आगामी 15 अगस्त से शुरू की जा रही है, जिसके तहत गरीब व कमजोर वर्ग के प्रत्येक परिवार को वार्षिक पांच लाख रुपये तक की स्वास्थ्य से संबंधित आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस योजना के शुरू होने से गरीब परिवारों के व्यक्ति अच्छी स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ आसानी से ले सकेंगे।

उन्होंने इस योजना के तहत देश के करीब दस करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे। एक बार यह बीमा पॉलिसी लेने पर पूरे परिवार को इसका लाभ मिलेगा। इससे देश के करीब 50 करोड़ लोगों को सीधा लाभ मिलेगा। यह अपने प्रकार की पहली स्वास्थ्य सुविधा होगी जिसके द्वारा पूरे परिवार को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत एक हजार 50 प्रकार के पैकेज बनाए गए हैं।

एक बार ईलाज करने के बाद संबंधित अस्पताल द्वारा बिल सीधे संबंधित विभाग की वैबसाइट पर अपलोड किया जाएगा, जिसके बाद पंद्रह दिन के अंदर उस बिल की पैमेंट कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस योजना से देश के करीब 80 प्रतिशत परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों के लगभग 90 प्रतिशत तथा शहरी क्षेत्र का लगभग 65 प्रतिशत रिकॉर्ड को केंद्रीय सरकार की वैबसाइट पर अपडेट कर दिया है।

स्वास्थ्य शिविर में नेत्र रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, दंत रोग विशेषज्ञ, गला रोग विशेषज्ञ व महिला रोग विशेषज्ञ की टीम ने लोगों की जांच की। इस मेगा शिविर में लगभग 406 मरीजों की जांच की गई, जिसमें 44 दांतो के मरीज, 115 आंखों के मरीज देखे गए और साथ ही साथ मलेरिया की जांच, खून की जांच, शुगर की जांच भी की तथा दवाईयां निशुल्क वितरीत की गई।

आंखों की जांच के दौरान जो मोतियाबिंद के केस मिले, उनको सरकारी अस्पताल पलवल में निशुल्क ऑपरेशन के लिए रेफर किया गया और साथ ही साथ वहां पर उपस्थित ब‘चों व गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया। स्वास्थ्य टीम ने मरीजों को ओआरएस के पैकेट व जिंक की गोलियां भी बांटी। कैंप में लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। इस अवसर पर दीपक मंगला तथा एसडीएम जितेंद्र कुमार ने ब”ाों को नेल कटर नि:शुल्क वितरित किए। शिविर में मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियों को पुष्पगु‘छ भेट कर स्वागत अभिनंदन व्यक्त किया।

इस अवसर पर पलवल के एसडीएम जितेंद्र कुमार, पलवल मार्किट कमेटी के चेयरमैन रणबीर सिंह मनोज, रामी सरपंच, पलवल निगरानी समिति के चेयरमैन मुकेश सिंगला, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डा. विपिन, दंतक सर्जन डा. सुषमा चौधरी, चिकित्सा अधिकारी डा. संजय सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य चिकित्सक मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here