डीएवी शताब्दी कॉलेज में पूर्व छात्र का मिलन व सम्मान समारोह का आयोजन

0
39

Faridabad/Alive News : एनएच-3 स्थित डीएवी शताव्दी कॉलेज में देर रात तक कॉलेज के भूतपूर्व छात्रों का मिलन व सम्मान समारोह का आयोजन किया गया| इस मौके पर कॉलेज के पूर्व छात्रों जो विभिन्न उच्च पदों एवम अपने व्यवसाय में कार्यरत है| कार्यक्रम का आयोजन कॉलेज एल्मुनी एसोसिएशन द्वारा आयोजित किया गया जिसमे लगभग 100 से ज्यादा लोगो ने भाग लिया गया|

इस कार्यक्रम बतौर मुख्य अतिथि कॉलेज के प्राचार्य डॉ सतीश आहूजा मौजूद रहे, साथ ही कार्यक्रम की अध्यक्ष्ता फरीदाबाद श्रम विभाग के सहायक कमिश्नर भगत प्रताप सिंह द्वारा किया गया| कॉलेज के पूर्व छात्र प्रताप सिंह ने अपना अनुभव साझा करते हुए प्राचार्य डॉ आहूजा की तारीफ करते हुए बताया की डॉ आहूजा उन दिनों कॉलेज में डिप्लोमा एडमिशन दिलवाया था और उसी डिप्लोमा की वजह से वह सहायक श्रम आयुक्त के रूप सेवा दे रहा है| चार्टर्ड अकाउंट, सीएस, प्रोफेसर, वकील, मैनेजर, व्यवसायी आदि के रूप में सेवा दे रहे कॉलेज के पूर्व छात्रों ने भी पुराने दिन याद किये|

पूर्व छात्रों ने अपने सफलता का श्रेय कॉलेज और अपने शिक्षकों द्वारा दिए गए ज्ञान और संस्कार को समर्पित किया| वर्तमान में कॉलेज में लगभग 12 पूर्व छात्र कॉलेज में सहायक प्रोफेसर के रूप में कार्यरत है| डीएवी कॉलेज प्राचार्य डॉ सतीश आहूजा व् अन्य मौजूद प्रोफेसर अपने पूर्व छात्रों का वर्तमान में सफलता सुनकर आत्म विभोर हो गए|

कॉलेज प्राचार्य डॉ सतीश आहूजा ने बताया की किसी भी शिक्षण संसथान व् शिक्षक के लिए अपने छात्रों को सफलता की उंचाईओं को छूते देखना सबसे गौरवान्वित पल होता है| डॉ आहूजा ने अपने पूर्व छात्रों से आह्वान किया कि कॉलेज के छात्रों को रोजगार दिलवाने जैसे सुविधाओं में अपना योगदान दें और साथ समय-समय पर कॉलेज को आगे बढ़ने में अपना महतापूर्ण सुझाव भी जरूर दें|

कार्यक्रम प्रोफेसर डॉ सुनीति व प्रोफेसर मुकेश बंसल के निर्देशन में आयोजित किया गया| डॉ सुनीति आहूजा ने बताया की अभी 200- 200 की संख्या में एलुमुनी एसोसिएशन के सहयोग से निरंतर रूप से ऐसे कार्यक्रम को आयोजित किया जायेगा जिसका फायदा कॉलेज के वर्तमान में पढ़ रहे छात्रों को मिलेगा|

कार्यक्रम का आयोजन में डीएवी एलुमुनी एसोसिएशन के प्रधान रवि कुमार, उप्रधान सीए अनूप मोदी, सचिव सीए महेश गुप्ता, केशियर पंकज झा, मोनिका, रेखा शर्मा, आरती और सोनिआ भाटिया, बिंदु रॉय आदि का विशेष योगदान रहा|

Print Friendly, PDF & Email