निजी स्कूलों की दादागिरी, अभिभावक परेशान!

0
170

Faridabad/Alive News: प्राइवेट स्कूल किसी भी तरह से अभिभावकों का शोषण करने से पीछे नहीं हटते चाहे वो अभिभावकों से स्कूल से ज्यादा फीस वसूली हो या स्थानांतरण प्रमाण पत्र के लिए आनाकानी करना हो। जिले भर में अप्रैल में दाखिला प्रक्रिया आरंभ होने वाली है जिसमे अभिभावक अपने बच्चों का दाखिला विद्यालयों में कराते है। कुछ अभिभावक ऐसे भी होते है जो अपने बच्चें को एक स्कूल से निकालकर उसका दूसरे स्कूल में एडमिशन कराते है, जिसमे ट्रांसफर सर्टिफिकेट( टीसी) की आवश्यकता पड़ती है, जिसे प्राइवेट स्कूल देने में आनाकानी करते है और अभिभावकों से टीसी के बदले में मनमाने पैसे वसूलते है।

शहर भर के कुछ प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान बच्चें के न जाने के लालच में अभिभावकों को टीसी के लिए कई कई बार चक्कर कटवाते है, इतना ही नहीं उनसे अपनी इच्छानुसार पैसों की भी मांग करते है। कुछ मामलों में ऐसा भी देखा गया है कि विद्यार्थी का अलग स्कूल में दाखिला भी हो जाता है, परन्तु वह पिछले स्कूल से सत्र के आधे समय तक टीसी ही नहीं ला पाते। ऐसे में अभिभावकों को न चाहते हुए भी मजबूरन प्राइवेट स्कूल के इस मनमाने रवैये को मानना पड़ता है और उन्हें पैसे देने पड़ते है।

क्या कहना है शिक्षा अधिकारी का
टीसी के लिए कोई भी निजी स्कूल पैसा नहीं ले सकता। अगर कोई स्कूल पैसे के लिए अभिभावकों को टीसी काटकर नहीं देता तो उसके खिलाफ अभिभावक जिला शिक्षा कार्यलय में अधिकारी को शिकायत दे सकते है, उन स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी बसर्ते अभिभावक स्कूल का बैलेंस क्लियर करे।
-सतेंद्र कौर, जिला शिक्षा अधिकारी, फरीदाबाद। 

Print Friendly, PDF & Email