पुलिस से पीडि़त पत्रकार दम्पति ने राष्ट्रपति से लगाई न्याय की गुहार

0
66

Faridabad/Alive News : पुलिस से न्याय न मिलने के बाद एक पत्रकार दंम्पत्ति ने महामहिम राष्ट्रपति का दरवाजा न्याय के लिए खटखटाया है। उक्त दम्पति ने थाना पल्ला के अंतर्गत आने वाली चौकी, नवीन नगर के इंचार्ज बदन सिंह, सब-इंस्पेक्टर संजय और एएसआई राम सिंह द्वारा गाली-गलौच, झूठे मुकद्दमें में फंसाने की धमकी और बिना वजह चौकी में बुलाकर परेशान करने को लेकर लिखित में शिकायत दी है।

इस्माईलपुर की दीपावली इन्कलेव पार्ट-3 निवासी पत्रकार राजकुमार यादव ने महामहिम राष्ट्रपति को दी अपनी शिकायत में बताया कि उक्त तीनों पुलिसकर्मी उसे उसके परिवार को उनकी पड़ोसन बैजंती और उसका पति अम्बिका प्रसाद दूबे के साथ मिलकर परिवार को मानसिक रूप से प्रताडि़त कर रहे हैं तथा उनकी पत्नि तथा लडक़ी से मारपीट भी करते है। 24 अगस्त के दिन हुई मारपीट में उनकी पत्नि को चोट लगने से ढाई माह के बच्चें का गर्भपात भी करना पड़ा था। उन्होंने इसकी शिकायत नवीन नगर चौकी को फोन के माध्यम से कर दी थी। झगड़े के अगले दिन 25 अगस्त को बैजंती और अम्बिका प्रसाद पुलिस से मिलीभगत कर झूठी शिकायत से उनके खिलाफ मुकद्दमा दर्ज करा दिया।

उसके बाद से ही पुलिस उसके परिवार को मानसिक रूप से हर रोज परेशान कर रही है। हालांकि शिकायतकर्ता पत्रकार राजकुमार यादव ने शिकायत में यह तक स्पष्ट किया है कि उनके परिवार पर दर्ज किया गया मामला किन धाराओं में है और किस अदालत में है, वारंट क्या हैं? उसके बावजूद भी चौकी इंचार्ज उन्हें कोई वारंट की कॉपी उपलब्ध नही करवा पाए हैं और उन्हें व उनके परिवार को अभ्रद गालियां, झूठे केस में फंसाने की धमकी दी जा रही हैं। पुलिस से परेशान होकर पत्रकार दंम्पति घर छोडऩे के लिए मजबूर हो चुका है।

उसके बाद भी उनके पड़ोसी दुबे दम्पति द्वारा लगातार शहर छुड़ाने और मकान बिकवाने तक की धमकी दी जा रही हैं। राजकुमार ने अपने पड़ोसियों पर यह भी आरोप लगाया कि उनकी 12 साल की लडक़ी को 18 दिसम्बर 2014 को पड़ोसियों ने ही गायब करा दिया था जो अभी तक नही मिली है। उसकी एफआइआर न. 652 थाना सराय में दर्ज करा दी थी। उन्होंने शिकायत में यह भी लिखा कि उन्हें यकीन है उनकी गली के चार घर है जो यह काम कर सकते हैं।

क्योंकि झगड़े के वक्त यह लोग उसकी बेटी को गायब करने की बात कबूल कर चुके हैं। उसके बावजूद भी पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही कर रही है। शिकायत में उन्होंने अपने परिवार की सुरक्षा और उक्त पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। उन्होंने इसकी शिकायत सीएम विंडो हरियाणा, पुलिस कमिश्रर फरीदाबाद, गृह मंत्री राजनाथ सिहं और राष्ट्रीय मानवधिकार भारत सरकार को भी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here