पत्रकारों ने किया सीपीएस सीमा त्रिखा की प्रैस-वार्ता का वहिष्कार

0
12

Tilak Raj Sharma/Alive News

Faridabad : जाट आरक्षण को लेकर मंगलवार को सीपीएस सीमा त्रिखा द्वारा बडख़ल में की गई प्रैस-वार्ता का पत्रकारों ने वहिष्कार कर दिया। पत्रकारों ने सीमा त्रिखा पर आरोप लगाते हुए कहा कि सीपीएस ने कुछ ही पत्रकारों के लिए प्रैस-वार्ता का आयोजन किया था। मामला कुछ यूं था कि सीपीएस सीमा त्रिखा ने जाट आरक्षण पर सरकार की ओर से सफाई देने के प्रैस-वार्ता का आयोजन किया था। सीपीएस सीमा त्रिखा ने पत्रकारों के सामने इस बात को स्वीकार कि आरक्षण की आग सरकार की ढील का कारण रहा है।

जहां जाटों ने उत्पात मचाया है वह चार जिले मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा (कांग्रेस) से प्रभावित रहे है इस बात से यह भी साबित हो गया है कि हरियाणा में भाजपा सरकार फेल रही है। क्योंकि किसी भी राज्य के मुख्यमंत्री के पास सीआईडी, आईबी, पुलिस और आईएएस-आईपीएस यहां तक कि पूरा प्रशासन उनके हाथ में होता है। इसके बावजूद भी सरकार और मुख्यमंत्री को आंदोलन की सुगबुगाहट का पता न लग पाना सरकार के फेल होने का प्रमाण है।

प्रेस-वार्ता में सीपीएस ने पूर्व मुख्यमंत्री पर जमकर शब्दों के प्रहार किए और हरियाणा की बदहाली का जिम्मेदार भी ठहराया। यहां सीपीएस सीमा त्रिखा ने सरकार को कमजोर और कांग्रेस को चार जिलों में ताकतवर करार दे दिया। उन्होंने पत्रकारों के सवालों से बचने के लिए प्रैस-वार्ता को बीच में ही स्थगित कर दिया। क्योंकि प्रैस-वार्ता शुरू होने से पहले ही सीपीएस ने आगे कतार में बैठे पत्रकारों से कह दिया था कि इससे पहले अजय गौड के साथ मिलकर की प्रैस-वार्ता में पत्रकारों ने आंसू छुड़ा दिए थे जो अभी तक नही सूखे है।

इस बार हाथ हल्का रखना, क्योंकि गौड जी के स्थान पर गोपाल शर्मा जी आए हैं। प्रैस-वार्ता में सीपीएस द्वारा जाट आंदोलन को लेकर जो पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ कहा और सरकार की ओर से सफाई दी वैसे ही कुछ पत्रकारों ने सवाल किए और प्रैस-वार्ता को स्थगित कर दिया। सीपीएस का प्रैस-वार्ता को अचानक कुछ पत्रकारों के कहने पर स्थगित करना इतना महंगा पड़ा कि पत्रकारों ने प्रैस-वार्ता का वहिष्कार कर दिया और यह कह कर विरोध करते हुए बाहर निकल गए कि कुछ पत्रकारों के लिए प्रैस-वार्ता बुलाई थी या सभी के लिए। पत्रकारों ने यह भी आरोप लगाया कि प्रैस-वार्ता कुछ पत्रकारो की रणनीति के तहत बुलाई गई थी। अगर ऐसा ही होगा तो आगे से आपकी प्रैस-वार्ता में कोई पत्रकार नही आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here