New Delhi/Alive News : भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड (एडब्ल्यूबीआई) के अध्यक्ष एसपी गुप्ता , आईएएस (सेवानिवृत्त) मानद राज्यपशु कल्याण अधिकारी/मानद जिलापशु कल्याण अधिकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन के अवसर पर जानवरों पर क्रूरता को रोकने के लिए सम्मिलित प्रशिक्षणाथियों से अनुरोध किया और कहा कि पशु कल्याण का संदेश समाज में प्रचारित करें।

उन्होंने यह भी कहा कि पशु कल्याण कार्यकर्ता के इस नेटवर्क को प्रत्येक गांव तक पहुंचाया जाएगा और सभी पशु प्रेमियों को आदर्श कार्यकर्ता का उदाहरण स्थापित करना होगा । यह प्रशिक्षण कार्यक्रम किसी भी डिग्री और सम्मान से भी मूल्यवान है क्योंकि पशु कल्याण स्वयंसेवकों की नि:स्वार्थ सेवा जानवरएवंपर्यावरण को बचाने की एक बड़ी मुहिम है जो आज हमारे के अस्तित्व के लिए जरुरी है।

डॉ. राखी के. झा, प्रशिक्षण समन्वयक ने कहा कि मानद राज्यपशु कल्याण अधिकारी / मानद जिलापशु कल्याण अधिकारी नियुक्त करने के लिए एडब्ल्यूबीआई के इतिहास में पहली बार 5 दिनों के प्रशिक्षण कार्येक्रम का आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रतिभागियों को विभिन्न आवश्यकता आधारित मुद्दों पर पढ़ाया गया जैसे पशुक्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 और इसके नियमों के प्रावधान।

इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय संदर्भ जैसे लावारिश कुत्ते या गोवंश, पेट शॉप , प्रदर्शन करने वाले पशु, वन्यजीव मामले, पशु कल्याण संगठन व्यवस्था और पशु व्यवस्था या देखभाल आदि के मुद्दों को शामिल किया गया। इस प्रशिक्षण में विभिन्न राज्यों से आये कुल 25 प्रतिभागियों ने भाग लिया । समापन कार्यक्रम के दौरान, एल.आर. गुप्ता, एडब्ल्यूबीआई के परामर्शदाता प्रशासक ने प्रतिभागियों के पशु कल्याण में गहरी रुचि की सराहना की और कहा कि ऐसे महत्वपूर्ण विषय में और अधिक समर्पण की आवश्यकता है । डॉ. एस भरत कुमार, सहायक सचिव और पवन कुमार, बोर्ड केकानूनी सलाहकार भी इस कार्यक्रम म में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here