Faridabad/Alive News :  ग्रीन फिल्ड कॉलोनी की आठ रजिस्ट्रियों को लेकर दो अधिकारियों में जमकर जुटम-पैजार की नोबत बनी हुई है। हालाकिं फरीदाबाद के तीनों एसडीएम कार्यालयों के भ्रष्टाचार को लेकर हम पहले ही लिख चुके है। तीनों एस डी एम कार्यालयों तहसील में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। उसका उदाहरण यह  मानना है तहसील कार्यालयों इन दिनों दो अधिकारियों मे आठ रजिस्ट्रियों को लेकर टकराव की चर्चा आम हो रही है।

सुनने में आया है कि विभाग का एक बड़ा अधिकारी उक्त आठ रजिस्ट्रियों की रजिस्ट्ररी करवाना चाहता है लेकिन अंडर मे कार्यरत अधिकारी रजिस्ट्ररी में कतरा रहा है। बताया यह भी जा रहा है कि प्रत्येक रजिस्ट्ररी करनें का ऊपरी कमाई करीब 3 लाख रूपए है आठ रजिस्ट्रियों की कुल कमाई 24 लाख है इस पूरी कमाई को बड़ा अधिकारी हजम करना चाहता है। परन्तु छोटे अधिकारी को इससे कोई एतराज नही है। मगर परेशानी यहां आ रही है कि बड़ा अधिकारी रिश्वत की मोटी कमाई को हजम भी करे और छोटे अधिकारियो द्वारा किए गए कार्यो में अडंगा भी डालता है।

छोटे अधिकारी का इसी बात को लेकर विरोध है कि इतना ही नही बड़ा अधिकारी हर रोज उसके द्वारा किए गए कार्यो की चैकिंग करवाता है ताकि वह छोटे अधिकारी को फंसा कर खुद साफ-साफ बच जाए। माना यह भी जा रहा है कि बड़ा अधिकारी विभाग में अपनी दहशत फैलाकर आने वाले अधिकारियों को भी डराने की कोशिश कर रहा है जिससे कि नए अधिकारी उसकी खिलाफत करने की बजाय उसके आदेशों की पालना करे।

तहसील की इस जुटम-पैजार आठ रजिस्ट्रियों के मालिक संशय में है क्योंकि छोटा अधिकारी अपने बॉस की आठ रजिस्ट्रियों को दवाकर बैठा है उधर छोटे अधिकारी का तकज़् अपने सहयोगियों मे यह है कि जब उसका सीनियर उसकी कमाई पर फन फैलाए बैठा है तो वह उसकी कमाई कैसे होने दे। जूनियर और सीनियर के बीच चल रही गर्मा-गर्मी बडख़ल क्षेत्र के चर्चा का विषय बनी हुई है वही दोनों अधिकारियों की लड़ाई में दलालों की सांसे अटकी हुई है बड़े अधिकारी की नाराजगी के बाद से ही हर रोज विभाग के कर्मचारियों की सांस भी इसलिए अटकी हुई है क्योकिं चैकिंग के दौरान किसी पर भी गाज गिर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here