वायुसेना दिवस पर किया जवानो के शौर्य को नमन

0
57

Faridabad/Alive News: राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा की जूनियर रेडक्रास और सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड ने वायुसेना दिवस के अवसर पर जवानों के शौर्य को वंदन और नमन किया। विद्यालय के अंग्रेजी प्रवक्ता व जे आर सी तथा एस जे ए बी प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि भारतीय वायुसेना भारतीय सशस्त्र सेना का एक शक्तिशाली एवम् महत्वपूर्ण अंग है जो कि वायु युद्ध, वायु सुरक्षा एवं वायु चौकसी का महत्वपूर्ण काम देश के लिए करती है। इस की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को की गयी थी।

आजादी से पूर्व इसे रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था और 1945 के द्वितीय विश्वयुद्ध में इसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने आगे कहा कि आतंकवादी हमलों से निपटने के सरकार के तरीके में बदलाव आया है। पड़ोस का वर्तमान सुरक्षा वातावरण चिंता का गंभीर विषय बना हुआ है। पुलवामा हमला रक्षा प्रतिष्ठानों पर होने वाले लगातार खतरे की याद दिलाता है।

इस बार का वायु सेना दिवस इसलिए भी विशेष है क्योंकि इसी दिन हमें फ्रांस से पहले रफेल युद्घक विमान की आपूर्ति हुई है और हमारी वायु सेना और भी मजबूत हो गई है, हमारे वायु सैनिक अपने युद्ध पराक्रम और शौर्य से दुश्मन की किसी भी नापाक हरकत का मुंह तोड़ जवाब देने में सक्षम है।

विंग कमांडर अभिनन्दन ने हाल ही में पूरी दुनिया को अपना लोहा मनवाया है भारत के वीर सैनिक अपने वतन की आन, बान और शान के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं। भारतीय सेनाओं के पराक्रम और भारतीय वायु सेना के वीरों को सराय स्कूल की जे आर सी तथा एस जे ए बी व विद्यालय प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने नमन और वंदन किया तथा रेडक्रास व ब्रिगेड सदस्य बच्चों नीतू, कोमल, शबानाज, आरती, सौरभ व मोहित ने वायु सेना के अद्भुत पराक्रम को पोस्टर के माध्यम से व्यक्त किया।

रविन्द्र कुमार मनचन्दा, रसायन प्रवक्ता रेणु शर्मा, अंग्रेजी प्रवक्ता विनोद बैंसला, फाइन आर्ट्स प्रवक्ता प्रीति, लिपिक कृष्ण गोपाल सहित अन्य प्रवक्ताओं ने भी वायु सेना दिवस पर अपने देश के वीर जवानों की बहादुरी पर गर्व किया और उन्हें नमन किया।

Print Friendly, PDF & Email