सरकार वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को नॉर्म्स का हिस्सा बनाये, तभी होगा जल संरक्षण : अमित कक्कड़

0
163
अमित कक्कड़

श्री बलराम मानव सेवा ट्रस्ट ऐसी संस्था हैं जो शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए काम करती हैं. श्री रेनबो धर्मार्थ औषधालय संस्था स्वास्थ्य के स्तर को बढ़ाने के लिए काम करती हैं। इसमें मरीजों को फ्री दवा के साथ इलाज भी दिया जाता है।

श्री बलराम मानव ट्रस्ट के फाउंडर अमित कक्कड़ के साथ अलाइव न्यूज़ के संपादक तिलक राज शर्मा के निर्देशन में रोज़ी सिन्हा से हुई बातचीत के कुछ अंश इस प्रकार हैं:

आपने श्री बलराम मानव सेवा ट्रस्ट की शुरुआत कब की थी और इसका उद्देश्य क्या हैं?
श्री बलराम सेवा ट्रस्ट की स्थापना 2016 में हुई थी। हमारा एनजीओ का उद्देश्य समाज में शिक्षा और स्वास्थ्य के स्तर को बढ़ाना है।

आपको समाज सेवा करने का विचार कैसे आया?
मैं हमेशा से ही समाज की सेवा करना चाहता था। श्री बलराम सेवा ट्रस्ट शुरू करने से पहले मैं कई एनजीओ के लिए काम करता था। फिर उसके बाद मन में अपना खुद का एनजीओ शुरू करने का विचार आया।

आपके एनजीओ में कितने सदस्य है?
हमारे एनजीओ में 50 सदस्य हैं जिसमे से 15 कार्यकारिणी के सदस्य हैं। हमारे एनजीओ में उपस्थित सदस्यों में महिलाओ की संख्या ज्यादा हैं।

एनजीओ के बारे में बताये?
एनजीओ गरीब बच्चों को फ्री प्राइमरी शिक्षा प्रदान करता हैं। उन्हें पढ़ने से सम्बंधित सभी वस्तुंए जैसे किताबे, ड्राइंग बुक्स आदि उपलब्ध करवाती हैं। एनजीओ समाज में स्वास्थ्य के स्तर को बढ़ाने के लिए हेल्थ चेकअप कैंप लगाती हैं जो समाज के हर वर्ग के लोगो को फ्री सेवाए प्रदान करती हैं। फ्री हेल्थ कैंप में शुगर स्पेशलिस्ट, जनरल फिजिशियन आदि डॉक्टर्स अपनी फ्री सुविधाए प्रदान करते हैं। एनजीओ के द्वारा जरूरतमंद लोगों को अच्छी दवाई उपलब्ध करवाई जाती हैं जिससे उनके स्वास्थ्य तक हो सके। अगर, किसी मरीज को और अच्छी सेवाओं की जरुरत होती हैं तो एनजीओ का विभिन्न अस्पतालों से टाईअप है। एनजीओ के द्वारा उन्हें अच्छे स्वास्थ्य संस्थान में रेफेर कर दिया जाता हैं।

आपके अनुसार शहर की सबसे बड़ी समस्या क्या है?
मेरे अनुसार सफाई की समस्या सबसे बड़ी समस्या हैं। शहर में ड्रेनेज सिस्टम और नालियां अपनी जर्जर अवस्था में हैं। पहली बारिश से ही सड़को पर पानी भर गया हैं। पानी व कचरे के निपटारे की कोई विशेष व्यवस्था नहीं हैं जिससे बीमारी फैलने का खतरा सबसे ज्यादा रहता हैं। सरकार को वॉटर हार्वेस्टिंग के सिस्टम पर विशेष ध्यान देना चाहिए और लोगों को बारिश के पानी को इकट्ठा करने तथा उसके उपयोगों के बारे में जागरूक करना चाहिए।

आप एनजीओ के माध्यम से समाज को कोई सन्देश देना चाहते हो?
हां, मैं ये कहना चाहता हूँ कि मनुष्य को जागरूक अपने आप ही होना पड़ता हैं। हमे पेड़-पौधों और विशेष कर पानी पर ध्यान देना चाहिए। अगर, अभी से प्राकृतिक संसाधनों पर ध्यान नहीं दिया गया तो हमारी भावी पीढ़ी इन संसाधनों से वंचित रह जाएगी। सरकार तथा जनता जागरूक होकर काम करे तो फरीदाबाद का स्मार्ट सिटी बनने का सपना जल्द ही पूरा होगा।

Print Friendly, PDF & Email