शिवपाल बोले- योगी सरकार की बनवाई गोशालाएं जेल, छाया तक की कोई भी व्यवस्था नहीं है

0
10

Uttar Pardesh/Alive News: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में शिवपाल यादव ने योगी सरकार की ओर से निर्मित गोशालाओं को जेल बताया है. शिवपाल सिंह ने कहा कि गायों की गोशालाओं को गोशाला नहीं, जेल कहिए. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव बाराबंकी एक कार्यक्रम में पहुंचे थे.

शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) को हराने के लिए जहां सम्मान मिलेगा, वहां तालमेल करेंगे. समाजवादी पार्टी हमारी पहली प्राथमिकता है.
योगी सरकार द्वारा बनवाई गई गौशालाओं पर चुटकी लेते हुए कहा कि इसे गौशाला नहीं जेल कहिए. सरकार ने

छुट्टा जानवरों के लिए गोशाला नहीं जेल बना दी है. जेल इसलिए कहना पड़ रहा है. न उसमें पानी की व्यवस्था है, न छाया की व्यवस्था है, न चारे की व्यवस्था है. बस उसमें जानवर मर ही रहे हैं. वह तो एक तरह से जेल है. जब इन जगहों पर कोई व्यवस्था नहीं है तो 90 फीसदी गोशालाएं खाली पड़ी हैं. शिवपाल यादव ने कहा कि गोवंश मर रहे हैं. किसान इन आवारा जानवरों से परेशान हैं.

शिवपाल यादव से 2022 के चुनावों को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा हम लोग जोर शोर से तैयारी कर रहे हैं. हम बीजेपी को हटाने के लिए किसी भी पार्टी से गठबंधन जरूर करेंगे. समाजवादी पार्टी से गठबंधन हमारी पहली प्राथमिकता है. जब शिवपाल यादव से पूछा गया कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने 2022 में किसी से गठबंधन न करने की बात कही है, उन्होंने कहा इस पर अभी कोई कमेंट नहीं करेंगे.

नागरिकता कानून का किया विरोध
शिवपाल यादव ने राष्ट्रीय नागरिकता कानून और नागरिकता संशोधन कानून के बारे में पूछा गया तो कहा मैं पहले भी इसका विरोध करता आया हूं, आगे भी करूंगा, यह देश की एकता और अखंडता के लिए ठीक नहीं है. इस कानून को हर हाल में हटना चाहिए. शिवपाल यादव ने योगी सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का आरोप भी लगाया.

यूपी की कानून व्यवस्था खराब
शिवपाल यादव ने प्रदेश की योगी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था बहुत खराब है. लखनऊ में हत्या हो रही है. प्रदेश में विकास का काम कोई हो नहीं रहा है , लूट मची है. सरकार के मंत्रियों को पैसा चाहिए. रिश्वत ज़रूर चाहिए. काम करेंगे नहीं. तहसील व थानों में बिना पैसे के कोई काम नहीं हो रहा है. इससे जनता परेशान है.

Print Friendly, PDF & Email