श्री लक्ष्मीनारायण दिव्यधाम में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर उमड़ेगा जनसैलाब

0
26

Faridabad/Alive News : सूरजकुंड रोड़ स्थित श्री रामानुज संप्रदाय के तीर्थ क्षेत्र श्री लक्ष्मीनारायण दिव्यधाम (श्री सिद्धदाता आश्रम) को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व के लिए रोशनी से सजाया गया है। अद्भुत रोशनी में नहाया श्वेत रंग का दिव्यधाम बड़ा अलौकिक लग रहा है। यहां तीन सितंबर की शाम से जन्माष्टमी का पर्व आयोजित होगा जिसमें भागीदारी करने के लिए देश विदेश से हजारों की संख्या में भक्त जुटेंगे जिसके लिए व्यवस्था पूरी हो चुकी है।

दिव्यधाम का संचालन करने वाली जनहित सेवा चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा गठित श्री सिद्धदाता आश्रम संचालन कमेटी ने यहां श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व को मनाने के लिए बड़े स्तर पर इंतजाम किए हैं। इनमें हजारों की संख्या में पहुंचने वाले भक्तों के लिए भोजन, भंडारे एवं बैठने की उत्तम व्यवस्था की गई है।

वहीं करीब आधा दर्जन विभिन्न झांकियां भी बनाई गई हैं। इसके साथ ही वृंदावन से विश्व प्रसिद्ध रास मंडली पं मुरारी लाल शर्मा भी आएंगे। जो यहां रास, मयूर नृत्य, ब्रज की फूलों की होली, लट्ठ मार होली आदि अनेक प्रस्तुतियां देंगे। इसके साथ ही कई अन्य कलाकारों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां लोगों को देखने को मिलेंगी।

कमेटी के महासचिव डीसी तंवर ने बताया कि शाम सात बजे शुरू होने वाला कार्यक्रम रात दो तीन बजे तक चलेगा। उन्होंने बताया कि रात 12 बजे विधि विधान और गाजे बाजे के साथ कान्हा का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। कान्हा मंदिर से प्रांगण में भक्तों के बीच पहुंचकर दर्शन देंगे।

इस अवसर पर दिव्यधाम के अधिपति अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज को प्रवचन रूपी आशीष वचन कहेंगे।
डीसी तंवर ने बताया कि सबसे ज्यादा उल्लेखनीय दिव्यधाम की रोशनी की व्यवस्था रहेगी जिसमें हर साल गुणात्मक सुधार हो रहा है। इस सजावट के लिए आगरा से कलाकार बुलाए गए हैं।

जिन्होंने करीब 10 दिन की अथक मेहनत से यह व्यवस्था की है। हमें उम्मीद है कि यहां आने वाले हजारों भक्तों को यह खूब पसंद आएगी। उन्होंने सभी शहरवासियों को अपने ईष्ट मित्रों एवं परिजनों सहित कान्हा के जन्मोत्सव में भागीदारी करने का आमंत्रण भी दिया।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here