Faridabad/Alive News : किंडर वल्र्ड, इंदिरा कॉम्पलैक्स के प्रांगण में जन्माष्टमी पर्व पर शानदार श्री कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल के चेयरमैन हिमांशु शर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित करने के बाद बाल गोपाल को मक्खन मिसरी का भोग लगाकर किया। इस अवसर पर श्री शर्मा ने कहा कि श्रीकृष्ण कर्म, भक्ति एवं ज्ञान के प्रतीक हैं।

बाल अवस्था में ईष्ट-मित्रों के साथ माखन चोरी उनकी सरलता व चपलता को दर्शाती है।कौरव व पांडव के बीच संधि का प्रयास नीति एवं कूटनीति का प्रतीक था, जबकि युद्ध के समय मार्गदर्शक के रूप में उनकी भूमिका अहम रही। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्कूल की प्रिंसपल नितिन शर्मा ने कहा कि श्रीकृष्ण के व्यक्तित्व में उनके गुण थे, जिसके कारण वे महानायक बने, उन्होंने गरीब मित्र सुदामा से मित्रता निभाई, दुराचारी शिशुपाल का वध किया, पाण्डुपुत्र युधिष्ठिर के राजसूय यज्ञ में आने वाले अतिथियों के पैर धोए और जूठी पत्तलें उठाईं, महाभारत के युद्ध में अपने स्वजनों को देखकर विमुख अर्जुन को आत्मा की अमरता का संदेश दिया, जो धार्मिक ग्रंथ ‘श्रीमद्भगवतगीता बना।

इस अवसर पर बच्चों ने सुंदर झांकियां सजाईं एवं खास रूप से दही-हांडी का आयोजन किया।इस अवसर पर स्कूल के छात्र-छात्राओं ने सुंदर भजन एवं नाट्य कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दीं जिन्हें देखकर सारा वातावरण तालियों से गूंज उठा। हिमांशु एवं नितिन शर्मा ने बच्चों को बधाई दी और उन्होंने बताया कि यह पर्व हमें आपसी प्रेम व भाई- चारे की भावना के साथ मनाना चाहिए व सभी धर्मों का आदर करना चाहिये। कार्यक्रम का समापन हर्षोल्लास के साथ हुआ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here