…ताकि शिक्षा से वंचित न रहे कोई भी बच्चा

0
29

शिक्षा निदेशालय ने शिक्षा अधिकारियों को भेजे दाखिला संबंधी निर्देश। उसी के अनुसार ही दाखिला प्रक्रिया शुरू करनी होगी।

Gurugram/Alive News : राज्य के सभी स्कूलों में नए सत्र से दाखिला प्रक्रिया शुरू करने के लिए शिक्षा निदेशालय से निर्देश दिए गए है। स्कूलों को निदेशालय द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार ही दाखिला प्रक्रिया शुरू करनी होगी। निर्देश में प्रवेश उत्सव के तहत आयोजित हुए कार्यक्रमों की सूची भेजी गई है। राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, डाइट प्रधानाचार्य, खंड शिक्षा अधिकारी, खंड मौलिक शिक्षा अधिकारियों को विद्यालय शिक्षा निदेशालय द्वारा लिखित नोटिस भेजा गया है। जिसके तहत राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में दो अप्रैल से दाखिला प्रक्रिया शुरू करनी होगी।

स्कूलों को निर्देश दिए गए हैं कि वे आगंनवाड़ी केंद्रों में जाएं और कक्षा पहली के लिए दाखिले करें। स्कूलों को तीस मार्च तक सभी कक्षाओं के परीक्षा परिणाम घोषित करने होंगे। पांचवी कक्षा पास करने वाले विद्यार्थियों का उसी दिन अगली कक्षा में नामांकन कर दिया जाएगा। विभाग ने स्कूलों को आदेश दिए हैं कि किसी भी दस्तावेज की कमी के कारण विद्यार्थियों की दाखिला प्रक्रिया न रोकी जाए। यदि विद्यार्थी के पास कोई दस्तावेज नहीं है तो विद्यार्थी को दस्तावेज जमा कराने के लिए समय दिया जाएगा।

सभी सरकारी विद्यालयों में दो अप्रैल से ही ‘कैचअप प्रोग्राम’ शुरू कर दिया जाएगा। कैचअप प्रोग्राम के जरिए विद्यार्थियों को कक्षा के अनुरूप कौशल समुचित कराना है। ऐसे में शिक्षा विभाग की ओर से चलाए गए ‘लर्निंग अनहेस्मेंट प्रोग्राम’ को सक्रिय बनाया जा सकता है। ग्यारहवीं कक्षा के लिए प्रोविजनल दाखिला किया जाएगा। प्रोविजनल दाखिले के बाद कक्षाएं नियमित रूप से शुरू कर दी जाएगी ताकि कक्षाओं का पाठ्यक्रम पूरा करवाया जा सके। ऐसे में सात अप्रैल तक राज्य के सभी सरकारी स्कूलों को दाखिला रिपोर्ट बनाकर विद्यालय खंड और जिला स्तर पर देनी होगी।

विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों पर खास ध्यान
विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों के लिए स्कूलों की ओर से वातावरण में समायोजन चुनौतीपूर्ण होता है। ऐसे में स्कूलों में इन विद्यार्थियों के लिए स्पेशल शिक्षक नियुक्त किया जाएगा। इन विद्यार्थियों के लिए यातायात का प्रबंध किया जाएगा। स्कूलों में इन विद्यार्थियों को विशेष सुविधाएं दी जाएगी। बैठने के लिए सही सीट, प्रकाश का उचित प्रबंध, कक्षा का ठीक वातावरण दिया जाएगा। विद्यार्थियों की क्षमताओं और कमजोरियों का पूरा ध्यान रखा जाएगा ताकि विद्यार्थियों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

विद्यार्थियों को उनके दस्तावेज जैसे सीसीई (स्किल पास बुक) समेत उसका पूरा विवरण देना होगा ताकि विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति एवं अन्य सुविधाएं मुहैया करवाई जा सके। ऐसे में सभी विद्यार्थियों के बैंक खाते खुलवाए जाएंगे। डीईओ कार्यालय द्वारा कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक के विद्यार्थियों को स्किल पासबुक उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रवेश उत्सव कार्यक्रम के दौरान सभी विद्यार्थियों को स्किल पासबुक देना स्कूल के मुखिया की जिम्मेदारी होगी। इसमें विद्यार्थियों के सभी रिकार्ड का मूल्यांकन किया जाएगा। ऐसे में स्किल पासबुक पर अभिभावकों के हस्ताक्षर भी करवाए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here