TB के मरीजों की बताई पहचान तो मिलेंगे Rs.500

0
15

Faridabad/Alive News : यदि आपके पड़ोस, किराएदार, संस्थान में ऐसा कोई व्यक्ति है, जिसके लक्षण टीबी से मिलते हैं तो उन्हें जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। अगर उस व्यक्ति की टीबी की बीमारी कंफर्म होती है तो सूचना देने के लिए स्वास्थ्य विभाग आपको 500 रुपए प्रोत्साहन राशि देगा। यह राशि सीधे आपके एकाउंट में भेजी जाएगी। अब टीबी के एक्टिव मरीज को ढूंढ कर उसकी फ‌र्स्ट इंफार्मेशन जिला टीबी विभाग को देने पर विभाग 500 रुपए प्रोत्साहन राशि देगा।

टीबी के छुपे हुए एक्टिव केसेज को सामने लाने के लिए इस योजना की शुरुआत की है। 2025 तक फरीदाबाद को टीबी मुक्त करना है। इसके चलते टीबी के मरीजों की पहचान के लिए इस योजना को लागू किया गया है। अगर मरीज खुद ही अपनी जांच कराने के लिए आते हैं। टीबी पॉजिटिव मिलती है तो वह खुद भी 500 रुपए प्रोत्साहन राशि ले सकता है।

मरीज खुद ही टीबी पॉजिटिव है तो वह खुद भी पा सकता है प्रोत्साहन राशि

  • जांच के बाद मिलेगा बेनीफिट
    मरीज की सूचना देने के बाद टीबी जांच लैब में एक प्रोफॉर्मा भरा जाएगा। इसमें तीन भाग होंगे। एक भाग में इनफार्मर का नाम व अन्य डिटेल्स होगी। अगर मरीज टीबी पॉजिटिव मिलता है तो इनफार्मर को उसके अकाउंट में बेनीफिट राशि भेजी जाएगी। अभी तक यह प्रोत्साहन राशि सिर्फ विभाग के कर्मचारी व डॉक्टर को ही दी जाती थी। अब इसमें सभी लोगों को शामिल कर लिया गया है। यह राशि उन्हीं लोगों को दी जाएगी, जो गवर्नमेंट एप्लाई नहीं है।
  • अति संवेदनशील है फरीदाबाद

टीबी के मामले में फरीदाबाद हरियाणा का अति संवदेनशील जिलों में आता है। यहां हर साल साढ़े चार हजार नए टीबी के पेशेंट डाइग्नोज किए जा रहे हैं। ये वे मरीज हैं, जो डॉक्टर्स के कहने पर जांच करा रहे हैं। इसके अलावा अभी भी जागरूकता की कमी से काफी लोग तो आगे ही नहीं आते। वे लोकल केमिस्ट से दवा लेकर खुद ही इलाज करते रहते हैं। ऐसे में टीबी की बीमारी लगातार बढ़ रही है। मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है।

  • पहचान क्यों है जरूरी
    टीबी बैक्टीरिया से होने वाली बीमारी है, जो हवा के जरिए एक इंसान से दूसरे में फैलती है। यह आमतौर पर फेफड़ों से शुरू होती है। टीबी का बैक्टीरिया हवा के जरिए फैलता है। खांस ने और छींकने के दौरान मुंह-नाक से निकलने वाली बारीक बूंदों से यह इन्फेक्शन फैलता है। अगर टीबी मरीज के बहुत पास बैठकर बात की जाए और वह खांस नहीं रहा हो तो इसके इन्फेक्शन का खतरा रहता है। टीबी का बिगड़ा रूप एमडीआर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here