“स्त्री शक्ति पहल समिति” की कोशिश साधारण को ख़ास बनाने की

0
194

नेशनल अवार्ड पुरुस्कृत पूनम सिनसिनवार एक साधारण महिला हैं लेकिन उनके काम ने उन्हें आम से खास बना दिया। नेशनल अवार्डी एवं “स्त्री शक्ति पहल समिति” की संस्थापक पूनम सिनसिनवार समाज में महिलाओं-बच्चों तथा स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम कर रही है। अलाइव न्यूज़ के मुख्य संपादक तिलक राज शर्मा के निर्देशन में रोज़ी सिन्हा के द्वारा की गयी बातचीत के कुछ अंश इस प्रकार है :

आप समाज के किस वर्ग की लोगों की सहायता करती है और कैसे?
मैं और मेरी संस्था महिलाओ-बच्चों के लिए काम करती हैं। हम महिलाओं को सिलाई-कढ़ाई, डांसिंग, ब्यूटी से सम्बंधित प्रोग्रम्मेस चलाते है ताकि वो अपनी ज़िन्दगी में स्वावलम्बी बन सके। हम बच्चों को नर्सरी स्तर की शिक्षा, अनौपचारिक शिक्षा यानि नॉन फॉर्मल एजुकेशन( NFE) मुफ्त प्रदान करवाते है।

अपनी संस्था के बारे में कुछ बताये?
हमारी संस्था का नाम “स्त्री शक्ति पहल समिति” है जिसका गठन 2005 में हुआ था। हमारे संस्था में सात सदस्य है और दस वालंटियर्स है। अभी तक हमारी संस्था आज़ाद नगर स्लम एरिया, मुजेसर, सीही, महेंद्रगढ़ के गांव पाली खुडाना जैसे क्षेत्रों में काम करती आ रही है। हमारी संस्था हर सोमवार को ओपीडी भी लगती है जिसमे 100 परिवार को फ्री चेकअप सुविधा उपलब्ध करवाती है। हम कैंसर से पीड़ित मरीजों को प्राइमरी इलाज उपलब्ध करवाते है और आगे के इलाज के लिए, हमारी संस्था का ग्लोबल कैंसर कंसर्न इंडिया से टायअप है वहां रेफेर कर देते हैं। हम आई चेकअप कैंप भी लगाते है जिसमे लोगों को आँखों से सम्बंधित बीमारियों के बारे में जानकारी तथा दवाइयां मुफ्त उपलब्ध करवाई जाती है।

आपको समाज सेवा करने का विचार कैसे आया?
मैं दिल्ली से हूँ और वहां पर एक “नवसृष्टि” नामक संस्था है जो मेरे घर के पास काम करती थी और वह से प्रेरित होकर, समाज सेवा करने का विचार आया। मैंने कुछ समय रीना बनर्जी के “नवसृष्टि” संस्था में काम किया। उसके बाद मैंने फरीदाबाद में “स्त्री शक्ति पहल समिति” के नाम से संस्था बनाकर काम शुरू किया।

संस्था को आर्थिक सहायता कहाँ से मिलती है?
हमारी संस्था को समाज के कुछ उद्योगपति वर्ग से भी सहायता मिलती है जिसमे भारती फाउंडेशन एयरटेल, बजाज ऑटो, जेसीबी इंडिया, इंडो ऑटोटेक, गुलाटी स्टील्स, वीनस कॉरपरेशन, महारानी पेंट्स, अम्बिका फोर्जिंग, मार्सल ग्रुप ऑफ़ कंपनी, एचजीआई आटोमोटिव्स, टेक्नो स्प्रिंग इंडिया शामिल है।

आप अपने संस्था के माध्यम से समाज को कोई सन्देश देना चाहते है?
किसी भी एनजीओ को समाज के लिए काम करना चाहिए। एनजीओ सरकार और समुदाय के बीच का पुल होता है। हमे निस्वार्थ भाव से सेवा करनी चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email