बीजेपी कुशासन में छात्र आत्महत्या करने को मजबूर : कृष्ण अत्री

0
20

Faridabad/Alive News : हरियाणा के अंबाला जिले के श्री राम मुलख कॉलेज में साबूल अंसारी नाम के छात्र ने कॉलेज प्रशासन की गुंडागर्दी के कारण आत्महत्या कर ली । इसी का विरोध करते हुए गुरुवार को एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में एनएसयूआई फ़रीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा का पुतला फूंका ।

इस दौरान कृष्ण अत्री ने कहा कि मोदी और खट्टर सरकार के कुशासन में अनेक प्राइवेट कॉलेज पैसे कमाने के लिए उट-पटांग फाइन लगा कर बच्चों को मानसिक तौर पर प्रताड़ित करने का काम कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अंबाला जिले के श्री राम मुलख कॉलेज में देखने में आया है । यहाँ के एक छात्र साबूल ने कॉलेज प्रशासन की गुंडागर्दी से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। आत्मा हत्या का कारण, कॉलेज प्रशासन द्वारा फिजूल फाइन बताया जा रहा है।

अत्री ने कहा कि जब वहाँ के छात्रों से बात कि तो उन्होंने बताया कि क्लास, होस्टल में लेट आने से लेकर नॉन वेजीटेरियन खाने तक पर 500 रुपये से लेकर 80000 हजार तक का फाइन भरना पड़ता है । फाइन ना दे पाने पर बच्चो पर और अधिक फाइन लगाया जाता है, मोबाइल छीन लिया जाता है और परीक्षा देने से मना कर दिया जाता है । इन्हीं हालातों के चलते हुए साबूल ने आत्महत्या की । उन्होंने कहा कि यह कोई आत्मा हत्या नही बल्कि कॉलेज प्रशासन द्वारा किया गया खून है और इसकी जाँच होनी चाहिए ।

वहीं जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा और सोशल मीडिया कोऑर्डिनेटर अजित त्यागी ने सामूहिक रूप से कहा कि कॉलेज प्रशासन और सरकार दोनो की मिलीभगत के चलते हुए, जो छात्र कॉलेज प्रशासन पर कार्यवाही की माँग कर रहे थे उनके खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 147, 149, 283, 427 व एनएच एक्ट की धारा 8बी के तहत मामला दर्ज किया है । सरकार और पुलिस प्रशासन का इस तरह का रवैया बिल्कुल बर्दाश्त नही किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ऐसे में हम सरकार से मांग करते है कि प्रदेश व देश के सभी प्राइवेट कॉलेजो को दिशानिर्देश दिए जाए जिससे किसी भी तरह की आर्थिक वसूली व उत्पीड़न न किया जाए व कोई अन्य साबूल इस देश मे आत्मा हत्या करने को मजबूर हो ।

इस दौरान मुख्य रूप से नेहरू कॉलेज उपाध्यक्ष अभिषेक वशिष्ठ, अक्की पंडित, जयप्रकाश, सोनू सिंह, अमित, लक्ष्मण, मनदीप, विकास भल्ला, पवन, श्याम, अजय, विकास कुमार, निशांत आदि सैंकड़ो छात्र मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here