Murthal/Alive News : स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप के माध्यम से गांवों में स्वच्छता का संदेश देने वाले विद्यार्थियों को अब उनकी मेहनत का पुरस्कार देने का समय आ गया हैं। हर कॉलेज की ओर से तीन मेहनती विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जाएगा। इसके साथ ही अगले चरण के लिए उनका चयन होगा। उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने कॉलेजों को निर्देश जारी किए हैं कि 100 घंटे की इंटर्नशिप पूरे करने वाले छात्रों को पहले कॉलेज में अपने स्तर पर सम्मानित किया जाए। इसमें सभी सरकारी, निजी और सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों को शामिल किया गया है।

प्रोत्साहन
हर कॉलेज की ओर से तीन मेहनती विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाएगा, अगले चरण के लिए उनका चयन होगा

15 अगस्त तक पोर्टल पर घोषित करने होंगे नाम
कॉलेजों को इन छात्रों का चयन कर 15 अगस्त तक संबंधित पोर्टल पर नाम अपलोड करने होंगे। इसके बाद यूनिवर्सिटी की टीम प्रदेश स्तर के लिए बेहतर स्वयंसेवक चुनेगी। यहां से विजेताओं के नाम आगे राष्ट्रीय स्तर पुरस्कार के लिए भेजे जाएंगे। एनएसएस और यूथ रेडक्रॉस के तहत चलाए गए अभियान में भाग लेने वाले हर छात्र को संस्थान स्तर पर एक प्रमाण-पत्र भी दिया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत मिलेगा सम्मान
कॉलेजों में मानव संसाधन विकास मंत्रालय व पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय के स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप-स्वच्छता के सौ घंटे अभियान में हिस्सा लिया। गर्मी की छुट्टियों में चले स्वच्छता अभियान से जोड़ने के लिए 15 मई तक इच्छुक छात्रों ने पंजीकरण कराने के बाद 31 जुलाई तक अभियान में भाग लिया। इसके तहत अलग-अलग गांव का चयन कर छात्रों ने जागरूकता लाने के लिए 100 घंटे श्रमदान दिया था। ग्रामीणों को स्वच्छता, शौचालय, हाथ धोने, हाइजीन, पेयजल, स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता

इस प्रकार मिलेगा सम्मान :
बेहतरीन तीन स्वयंसेवकों को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया जाएगा। आगे विवि, प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर विजेताओं को नकद पुरस्कार दिया जाएगा। प्रथम द्वितीय तृतीय कॉलेज स्तर पर सभी को प्रमाण-पत्र, तीन को ट्रॉफी मिलेगी। विवि स्तर 30 हजार 20 हजार 10 हजार, प्रदेश स्तर पर 50 हजार 30 हजार 20 हजार, राष्ट्रीय स्तर 02 लाख 01 लाख 50 हजार रुपए मिलेंगे।

इससे दूसरे विद्यार्थी भी प्रेरित होंगे यह एक सार्थक पहल है। अपनी मेहनत का पुरस्कार मिलेगा तो दूसरे विद्यार्थी भी आगे बढ़कर समाज सेवा के लिए प्रेरित होंगे। कॉलेज की ओर से जल्द ही इस बाबत प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा-सुभाष सिसोदिया, संयोजक स्वच्छता अभियान, राजकीय महिला महाविद्यालय, मुरथल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here