अरावली स्कूल बस से दुर्घटनाग्रस्त हुई छात्रा की स्कूल प्रबंधन ने नही ली कोई सुध

0
34

वादे से मुकरा स्कूल प्रबंधन, छात्रा ने गवाए पैर, स्थिति गम्भीर

Faridabad/Alive News : Aravali Intrtnational School प्रबंधन ने मानवता को नीचा दिखाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी है। स्कूल बस से दुर्घटनाग्रस्त हुई जिस छात्रा नितिका गर्ग (16) के बचाव के लिए कल तक स्कूल प्रबंधन उसके इलाज के लिए सब कुछ कर गुजरने को तैयार था, वो अब मतलब निकलते ही अपने वादे से मुकर गया हैं। परिणाम यह हो रहा है कि इस दुर्घटना में अपने पैर गंवाने के बाद भी छात्रा नितिका को जिंदा रहने के लिए मौत से संघर्ष करना पड़ रहा है। छात्रा के अब तक तीन आप्रेशन हो चुके है और अभी दो होने बाकी है, बावजूद इसके छात्रा अभी तक खतरे से बाहर नहीं हो पाई है।

इस मामले में अब दुर्घटनाग्रस्त छात्रा नितिका गर्ग के गली-मोहल्ले वाले तथा रिश्तेदार आदि वीरवार की सुबह सात बजे ओल्ड फरीदाबाद के लाला लाजपत राय चौक पर अरावली इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ धरना दे अपना रोष प्रकट कर छात्रा नितिका के ईलाज की मांग करेंगे क्योंकि उनका परिवार बहुत गरीब परिवार है जोकि अस्पताल का खर्चा झेलने की स्थिति में नहीं हैं।

वहीं छात्रा की मां शशि गर्ग का कहना है कि अरावली इंटरनेशनल स्कूल की वाईस प्रिंसीपल रीमा राय ने दुर्घटना के बाद हॉस्पिटल में तो कह दिया था कि स्कूल प्रबंधन बच्ची के ईलाज का पूरा खर्च उठाएगा लेकिन अब वे अपने वादे से मुकर गए हैं। बकौल शशि गर्ग अब स्कूल प्रबंधन का कहना है कि उन्होंने बच्ची को सरकारी अस्पताल में क्यों नहीं भर्ती कराया। यहां हम आपको यह बता दे कि एक्सीडेंट के बाद घायल छात्रा नितिका गर्ग को सबसे पहले सैक्टर-16 के मैट्रो हॉस्पिटल में एडमिट कराया था जहां हॉस्पिटल वालों ने यह कहकर नितिका को अपोलो अस्पताल में रेफर किया था कि उनके हॉस्पिटल में छात्रा के ईलाज के लिए पर्याप्त सुविधा नहीं हैं। जिसके चलते नितिका को अपोलो अस्पताल में एडमिट कराया गया था जहां वह अभी भी जिंदगी और और मौत के बीच जुझ रही है। इस ईलाज के दौरान नितिका का एक पैर तो काटा भी जा चुका है और उसके ब्रेन में भी डॉक्टरों ने प्रोब्लम बताई है।

गौरतलब रहे कि ओल्ड फरीदाबाद की पथवारी कालोनी के मकान नंबर-469 में रहने वाली शशि गर्ग की 16 वर्षीय बेटी निकिता गर्ग अपने स्कूल के.एल. मेहता दयानंद स्कूल सैक्टर-16 के लिए मंगलवार की सुबह करीब 8.15 बजे साईकल से निकली थी। जैसे ही निकिता सैक्टर-16 में मोती महल के पास सडक़ पार करने के लिए साईकल से उतरकर पैदल चलने लगी तो अचानक सामने से तेजी से आ रही ग्रेटर फरीदाबाद के सैक्टर-81 स्थित अरावली इंटरनेशनल स्कूल की बस ने जोरदार टक्कर मार दी। इस भयानक एक्सीडेंट में बुरी तरह जख्मी हुई निकिता को वहीं स्कूल जाने वाले दूसरे छात्रों के अभिभावकों ने मानवता के नाते नजदीक के सैक्टर-16 स्थित मैट्रो हॉस्पिटल में एडमिट करा दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here