छात्रों ने समझाया हिंदी का महत्व

0
16

Faridabad/Alive News : राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सराय ख्वाजा में प्राचार्या श्रीमति नीलम कौशिक की अघ्यक्षता में विश्व हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में काव्य पाठ, भाषण तथा नारा लिखो आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। विद्यालय के अंग्रेजी प्रवक्ता रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि हिन्दी को भारतीय संविघान में संवैघानिक रुप से आज ही के दिन वर्ष 1949 में देवनागरी लिपि के साथ भारत की राजभाषा घोषित किया गया। राजभाषा प्रचार समिति की संस्तुति पर 14 सितम्बर 1953 से संपूर्ण भारत में हिन्दी दिवस के रुप में मनाया जाता है। भारत की नई पीढी भले ही अंग्रेजी को तवज्जो दे रही हो लेकिन पूरे विश्व में हिन्दी की महता साल दर साल बढ रही है।

उन्होनें बताया कि हिन्दी अब नई प्रौद्योगिकी के रथ पर सवार हो कर विश्वव्यापी बन रही है, युवा लेखक बखूबी जानते है कि हिन्दी साहित्य का बाजार तेजी से बढ रहा है यही काऱण है कि गूगल, याहू, माइक्रोसॉफ्ट, ओरेकल आदि जैसी कम्पनियां भी व्यापक बाजार देखते हुए हिन्दी प्रयोग को बढावा दे रही  है। आज  हिन्दी  भाषा  पूरी  दुनिया  के  माथे  पर  बिन्दी की तरह  चमक  रही  है। मनचन्दा ने कहा कि राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को बढावा देना हम सब की जिम्मेदारी है उन्होनें बताया कि हिन्दी बहुत ही समृध एवम सम्पूर्ण भारत को एक सूत्र में पिरोने वाली भाषा है और तो और हिन्दी भाषा रंगमंच की आत्मा है कितने ही देसी विदेशी कलाकारों में हिन्दी के प्रति उत्सुकता दिनोदिन बढती जा रही है

रुप किशोर शर्मा ने मंच संचालित करते हुए हिन्दी की उपयोगिता और चलन पर कविताएं और मुक्तक प्रस्तुत किए, हिन्दी प्रवक्ता अनुराधा पाण्डे, सत्यप्रकाश, ईश्वर सिंह, संदीप सिंह, चन्दन बिन्दु ने भी हिन्दी काव्य पाठ कर व हिन्दी की उपयोगिता का आभास करा के सभी का मन मोह लिया। छात्रा भावना, आरती व शीतल ने भी हिन्दी की कविताएं और सुन्दर रचनाएं सुना कर सभी को मन्त्रमुग्ध किया। इस अवसर पर छात्रों की भाषण प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। छात्रा निधि, मोनिका और आरती व छात्र मिथुन ने भी भाषण किया प्रस्तुत किया और संवाद तथा आम भाषा की बोली के रुप में हिन्दी का बखान किया।

 प्राचार्या श्रीमति नीलम कौशिक ने कहा कि हिन्दी में रोजगार के बहुत लुभावने अवसर है रविन्द्र कुमार मनचन्दा, वरिष्ठ प्राघ्यापिका रेनु शर्मा, रुप किशोर शर्मा, स्टाफ सचिव वीरपाल सिंह, बिजेन्द्र सिंह और ब्रहम्देव यादव व लोकेश पी टी आई ने छात्रों को हिन्दी के प्रचार एवम प्रसार के लिए विशेष रुप से प्रयास करने के लिए प्रेरित किया तथा काव्य पाठ में भावना को प्रथम, आरती को द्वितीय व शीतल को तीसरा ; भाषण में निधि को प्रथम, मिथुन को द्वितीय व मोनिका को तीसरा तथा नारा लिखो में गुलफशा को प्रथम, नजमा को द्वितीय व शिशिर को तीसरा घोषित कर पुरूस्कार दे कर सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here