ह्दयगति रूकने पर महिला को सीपीआर देकर दिया पुन: जीवनदान

0
24

Faridabad/Alive News : फोर्टिस अस्पताल की टीम ने 73 वर्षीय महिला की ह्दयगति रूकने के बाद भी कार्डियोपल्मोनेरी रिससिएशन (सीपीआर) देकर पुन: जीवनदान दिया।

डिपार्टमेंट ऑफ क्रिटिकल केयर के डायरेक्टर डॉ. सुप्रदीप घोष ने बताया कि 73 वर्षीय इस महिला रोगी को डायबिटिज, हाइपरटेंशन के अलावा हाइपरथॉयराइडिज्म की भी शिकायत थी। उन्हें 29 मई को फोर्टिस हॉस्पीटल के आईसीयू में शॉक की स्थिति में भर्ती किया गया था।

अस्पताल में भर्ती कराने के कुछ घंटों के भीतर ही उन्हें दिल का जबर्दस्त दौरा पड़ा। डॉ ने बताया कि महिला के पूराने रोगों और उम्र को देखेते हुए उन्हें पुर्नजीवित करने का प्रयास बेहद चुनौतीपूर्ण था।

अस्पताल की आपातकालीन टीम ने उन्हें तत्काल उच्च गुणवत्ता वाला उन्नत कार्डियाक केयर सपोर्ट किया। मरीज को वेंटीलेशन पर रखा गया और लगातार सीपीआर देने के 25 मिनट बाद उनके ह्दय में दोबारा धडक़न हुई। डॉ. ने बताया की मरीज का ब्लड प्रेशर अब भी काफी गिरा हुआ है। इसकी वजह से मरीज को वैसोप्रेसर्स ( ब्लड प्रेशर को बढ़ाने वानी दवाएं) की अधिक खुराक दी गई है।

कुछ समय बाद उन्हें वेंटीलेटर सपोर्ट से हटा लिया गया। 19 जून को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और तब तक उनके सभी अंगों ने भी सामान्य तरीके से काम करना शुरू कर दिया था।

डॉ सुप्रदीप घोष ने कहा कि हर व्यक्ति को लाइफ सपोर्ट की बुनियादी जानकारी होनी चाहिए। समय पर और समुचित तरीके से लाइफ सपोर्ट देने से किसी भी रोगी का जीवन चिकित्सकीय मद्द मिलने से पहले बचाने में मदद मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here