Faridabad/Alive News : 60 फुट रोड़ से डबुआ चौक की सीमेंटेड सडक़ों पर जमा पानी चर्चा का विषय बना हुआ है। नाली निकासी के अभाव में बरसात का पानी सडक़ पर जमने से क्षेत्र की स्थिति नरकीय बनी हुई है, जो स्थानीय बाशिंदों के आवागमन में भारी परेशानी का सबब बना हुआ है।


मानसून की बारिश के पानी निकासी न होने के कारण बाढ़ के हालात बनने से सैकड़ों लोगों के जीवन पर खतरे की तलवार लटक रही है, बावजूद इसके जिम्मेदार प्रशासन समस्या पर अमल करने की बजाए मूक दर्शक बने हुए है।
इस जलभराव में लोगों को घंटों जाम में इंतजार करना पड़ता है। पास में ही कुछ डॉक्टरों के क्लीनिक है, जहां से मरीजों को भी इस जलभराव से निकलने में दिक्कत होती है।

स्थानीय दुकानदार महावीर का कहना है कि यहां पानी ऑवरफ्लों की समस्या लगभग 10 सालों से बनी हुई है। लेकिन आज भी समस्या जस की तस है। इस जलभराव के कारण रोड़ का ऑपरफ्लों पानी दुकानों में घुस रहा है, जिससे कोई भी ग्राहक दुकानों में आना पसंद नही करता।

सुनील जैन बताते है कि दुकानदारों द्वारा उक्त समस्या के लिए शिकायत की जाती है तो, अगले दिन चार-चार जेसीबी भेजकर उनके दुकानों के आगे तोडफ़ोड़ कर उन्हें परेशान किया जाता है। दुकानदार सुरेंद्र का कहना है कि पास में ही पार्षद का कार्यालय है, लेकिन पार्षद को यह समस्या इसलिए नही दिखाई दे रही है क्योंकि पार्षद क्षेत्र में कम और पार्को में फोटो सेंशन और इंनोग्रेशन में ज्यादा दिखाई देते है।

क्या कहना है पार्षद का
डबुआ चौक पर लाईन छोटी है, जिससे मेन सीवर लाईन का पानी उसमें जाता है। इसमें कूड़ा-कचरा फंसने से पानी निकासी बंद हो गई है। इस जलभराव का समाधान करने के लिए मशीनें लगाकर काम करवाया जा रहा है, जल्द ही लोगों को समस्या से निजात मिल जाएगी।
कविंद्र चौधरी, पार्षद पति वार्ड-8

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here