Chandigarh/Alive News : हरियाणा के युवाओं को अब सरकारी नौकरी मिलने के बाद पहले नैतिकता और विभागीय कार्यप्रणाली का पाठ पढ़ना होगा। निचले स्तर के कर्मचारियों से लेकर उच्चतम स्तर के अफसरों तक के लिए यह जरूरी होगा।

इसके लिए राज्य प्रशिक्षण नीति का प्रारूप तैयार हो चुका। नौकरी ज्वाइन करने से पहले हरियाणा सिविल सेवा के अफसरों को एक साल, ग्रुप ए के अन्य अफसरों व ग्रुप बी के अधिकारियों को छह महीने, तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को छह सप्ताह और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को चार सप्ताह की इंडक्शन ट्रेनिंग दी जाएगी।

इसका उद्देश्य पेशेवर, निष्पक्ष और कुशल सिविल सेवा विकसित करना है जो लोगों की जरूरतों के प्रति उत्तरदायी हो। सरकार ने पॉलिसी के ड्राफ्ट पर सभी प्रशासकीय सचिवों, पुलिस अकादमी मधुबन, ग्रामीण विकास संस्थान नीलोखेड़ी, हरियाणा लोक प्रशासन संस्थान (हिपा), राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद गुरुग्राम, आबकारी एवं कराधान अकादमी गुरुग्राम तथा सिंचाई अनुसंधान एवं प्रबंधन संस्थान, कुरुक्षेत्र के निदेशकों से 15 दिसंबर तक सुझाव मांगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here