ठेकेदार की मनमानी का खामियाजा उठा रही है जनता

0
72

नालों से निकले कीचड़ का डम्पिंग जॉन बना नंगला पार्ट-1
Faridabad/Alive News : एनआईटी विधानसभा में नंगला इन्कलेव पार्ट-1 के खाली प्लॉट नालों से निकाली गई कीचड़ से पट चुके है। गंदगी की बदबू से आस-पास रहने वाले लोगों का जीना मुहाल हो रहा है। नालों की सफाई करने वाले ठेकेदार ने पैसा बचाने के लिए नालों से निकलने वाले कीचड़ को घनी आबादी के बीच में खाली पड़े प्लॉटों को कीचड़ से भर दिया है।

स्थानीय लोगों द्वारा मना करने के बावजूद भी ठेकेदार और उसके लोग कीचड़ डालने से बाज नही आए, और उल्टा स्थानीय लोगों को सरकारी काम में बाधा डालने पर मुकदमा दर्ज कराने की धमकी दे रहे हैं। ज्ञात रहे कि पिछले माह सितम्बर में नंगला रोड़ मार्केट के दुकानदारो द्वारा विधायक का घेराव कर नंगला रोड़ के नालो की सफाई का मुद्दा रखा गया था। घेराव के बाद विधायक नंगेद्र भड़ाना ने उसी दिन नालों की सफाई का कार्य शुरू कराया। उसके बाद वार्ड 6 और 9 में नालों की सफाई के कार्यो का ठेका ठेकेदार को दे दिया गया।

वार्ड-6 के मुख्य नालों की सफाई का कार्य खुद नंगेद्र भड़ाना ने खड़े होकर कराया। लेकिन वार्ड-9 में अटल चौक से भड़ाना चौक तक के नालों की सफाई का ठेका लेने वाले ठेकेदार ने स्थानीय लोगों के नाक में दम कर दिया। एक ओर नालों की सफाई दोनों तरफ से नही की गई और कुछ की भी गई है, तो वहां लापरवाह कर्मचारियों ने नालों से निकलने वाले कीचड़ को सडक़ो के किनारे खाली पड़े प्लॉटों में भर दिया है। लोग कीचड़ से निकलने वाली बदबू से परेशान से है और घरो में मच्छर, कीट-पतंगों का प्रभाव बढ़ गया है। जिससे स्थानीय लोग बीमार हो रहे है।

प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान पर ठेकेदार बना रोड़ा
देश में एक तरफ स्वच्छता को लेकर केंद्र व राज्य सरकार करोड़ो रूपए फूंक चुकी है। लोगों को जागरूक करने के लिए सरकार स्वच्छता पखवाड़ा अभियान चला रही है। कॉलोनियों के खाली प्लॉटो में कूड़े को जमा होने से रोकने के लिए फरीदाबाद नगर निगम ने कूड़ा डालने वालों के लिए दंड और जुर्माने का प्रवाधान किया हुआ है। शहर में नगर निगम ने कूड़ा उठाने के लिए ईको ग्रीन कम्पनी को हायर किया हुआ है। जिस पर नगर निगम द्वारा करोड़ो का इंवेस्ट किया जा रहा है।

ऐसे में नालों की सफाई का कार्य कर रहे ठेकेदार पर कूड़े के ढ़ेर लगाने पर अधिकारियों ने क्यों कोई कार्यवाही नही की। क्या ठेकेदार अधिकारियों से मिलीभगत कर तेल के खेल में पूंजीपति बनना चाहता है। क्योंकि ठेकेदार को नालों से निकलने वाली गंदगी को सफाई वाले स्थान से उठाकर करीब छह किलो मीटर का चक्कर लगाना होता था। इसलिए ठेकेदार के ट्रेक्टर-ट्रॉली चालक कॉलोनियों के खाली पड़े प्लॉटों में ही गंदगी के पहाड़ बना रहे हैं। इससे हरियाणा सरकार के स्वच्छता अभियान पर ग्रहण लग रहा है।

क्या कहते है विधायक
खाली प्लॉटोमें कीचड़ डालने वाली बात मेरे संज्ञान में नही है, और रही बात ठेकेदारों की जो नालियों की सफाई कर गंदगी ऐसी जगह डाल रहे है, जिससे आम जनता को परेशानी हो रही है। तो मैं, ठेकेदार से बात करूगां। उन्हें गंदगी ऐसी जगह डालना चाहिए जिससे लोगों को परेशानी न हो।

 

 

 

नगेंद्र भड़ाना, विधायक एनआईटी-86।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here