New Delhi/Alive News : जब से बंटवारा हुआ है, तब से भारत-पाकिस्तान को दोस्त के रूप में देखने का सपना भी दोनों मुल्क के लोगों की आंखों में पल रहा है। साथ-साथ सरहद पर तनाव व आतंकवाद भी जारी है, जो इन ख्वाबों की राह में बंदिशें डाले हुए हैं। फिर भी दोनों तरफ के लोग यकीन रखते हैं कि एक दिन ऐसा आएगा, जब सरहद की बंदिशें हट जाएंगी और दोनों मुल्कों में प्यार होगा।

इसी के तहत अब एक किताब लाने का प्रयास हो रहा है, जिसमें भारत और पाकिस्तान दोनों तरफ के तकरीबन 100 कवियों की कविताएं होंगी। जो दोनों मुल्कों में शांति और दोस्ती के हंसी सपने सजाएगी। यह पहल ‘आगाज-ए-दोस्ती’ अभियान के तहत है, जो दोनों मुल्कों के लोग वर्षों से चलाए हुए हैं।

इस अभियान के संस्थापक रवि नितेश बताते हैं कि अभी तक दोनों मुल्कों द्वारा दोस्ती की बनाई तस्वीरों और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये दोनों तरफ के छात्रों में संवाद स्थापित करने व यात्रएं निकालने जैसे प्रयोग करते आ रहे हैं। अब एक पुस्तक लाने की तैयारी की गई है। इसमें दोनों तरफ के लोग अपनी भाषा और जज्बातों में दोस्ती की कविताएं लिखेंगे। कोशिश होगी कि दोनों तरफ की 50-50 कविताएं इस पुस्तक में शामिल की जाएं।

उन्होंने बताया कि इसके लिए हिंदी, उर्दू, अंग्रेजी, पंजाबी और सिंधी में कविताएं आमंत्रित की गई हैं। इसके लिए अप्रकाशित कविताएं मंगाई गई हैं। यह प्रयोग सफल होता दिख रहा है, क्योंकि 15 दिनों के भीतर ही दोनों मुल्कों से तकरीबन 40 कविताएं आ गई हैं।

उन्होंने बताया कि कविताएं 15 सितंबर तक ईमेल के माध्यम से ली जाएंगी, फिर इनमें से अच्छी कविताओं को छांटा जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि यह पुस्तक अगले वर्ष के आरंभ तक दोनों मुल्क के पाठकों के हाथ में होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here