Bareli/Aalive news : तीन तलाक पर सरकार ने भले ही कानून सख्त कानून बना दिया हो, लेकिन हकीकत में अभी भी मुस्लिम महिलाओं को इसके उत्पीड़न का शिकार होना पड़ रहा है. एक चैनल के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार बरेली में एक महिला को उसके पति ने महज इस वजह से तीन बार तलाक बोल दिया कि वह केंद्र सरकार द्वारा ट्रिपल तलाक पर बनाए कानून के लिए धन्यवाद रैली में जो शामिल हुई थी.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक को अवैध ठहराए जाने के बाद केंद्र सरकार इस पर सख्त कानून भी बनाने जा रही है. प्रधानमंत्री को इस कानून के लिए धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए एक रैली का आयोजन किया गया था. इस रैली में बरेली की एक महिला भी शामिल हुई. रैली में जाने की बात से खफा होकर महिला के पति ने उससे तीन बार तलाक बोलकर नाता तोड़ लिया है. पीड़ित महिला ने केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन से न्याय की गुहार लगाई है.

जानकारी के मुताबिक, बरेली की रहने वाली फायरा भी इस रैली में शामिल होने के लिए गई थी. घर पहुंचने पर जब उसके पति दानिश ने पूछा कि वह कहां गई हुई थी, तो महिला ने बताया कि प्रधानमंत्री की धन्यवाद रैली में शामिल होने के लिए गई हुई थी. इस बात से नाराज पति ने महिला के मारपीट की. इतने पर भी जब उसका मन नहीं भरा तो तीन बार तलाक बोलकर महिला को एक साल के मासूम बेटे के साथ घर से निकाल दिया. पीड़ित महिला अपने बेटे को लेकर पुलिस के पास गई लेकिन पुलिस ने उसकी कोई मदद नहीं की. अंत में वह केंद्रीय मंत्री की बहन फ़रहत नक़वी के घर पहुंची और न्याय की गुहार लगाई. फरत नकवी ने कहा कि वह पीड़िता के साथ हैं और उसे न्याय दिलवा कर ही रहेंगी.

महिला ने अपने पति पर अन्य महिला के साथ अवैध संबंध होने और संबंधों से एक बच्चा भी होने का आरोप लगाया है. फायरा ने मीडिया को बताया कि दानिश ने उसके साथ लव मैरिज की थी और जब उसके संबंधों का खुलासा हुआ तो वह उससे तलाक लेने के लिए अक्सर मारपीट किया करता था. उधर, दानिश ने उल्टा अपनी पत्नी पर अवैध संबंधों का आरोप लगाया है. दानिश ने बताया कि फायरा के शादी से पहले ही किसी और से संबंध रहे हैं, इसलिए उसने उससे तलाक लिया है. प्रधानमंत्री की रैली में जाने का तो बिना वजह मुद्दा बनाया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here