Moradabad/Alive News : रामपुर से खबर है कि यहां पूर्व मंत्री आजम खान के समधी के खिलाफ उसकी पुत्र वधू ने कुकर्म की रिपोर्ट दर्ज करा दी है। सभी अखबारों ने यह खबर छापी है प्रमुखता से, लेकिन अमर उजाला में खबर नहीं है। पाठकों का मानना है कि बड़ी डीलिंग कर खबर रोकी गई है।

पता चला है कि रामपुर एडीशन में खबर पहले पेज पर लगाई गई थी। अखबार छप गया और रामपुर पहुंच गया। लेकिन अचानक पूरी सप्लाई जो कि हजारों में थी, वापस मंगा कर रद्दी कर दी गई। अखबार दोबारा छापा गया, जो सुबह पांच बजे के बाद पहुंचा। जो दुबारा छापकर अखबार रामपुर भेजा गया उसमें पहले पेज से आजम के समधी वाली खबर हट चुकी थी। ऐसा क्यों हुआ? कुछ तो गड़बड़ है। हिन्दुस्तान और दैनिक जागरण ने भी यह खबर छापी है। मगर अमर उजाला ने इस खबर को पी लिया।

रामपुर जिले में अमर उजाला की ख़बर गायब किये जाने की बड़ी आलोचना हो रही है। अमर उजाला पर सच लिखने का भरोसा पाठकों को था जो कि अब उठने लगा है। देखें दूसरे अखबारों में छपी खबर….

”महोदय, आज दिनांक 19 जून अमर उजाला का रामपुर संस्करण निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता को पलीता लगाने वाला रहा। आज प्रकाशित अमर उजाला के मुख पृष्ठ की फोटो भेजी जा रही है। एक फोटो में आज़म खान के समधी की खबर छपी है जिसमे कहा गया है कि “आजम खां के समधी खिलाफ संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज”। इस खबर के साथ अखबार प्रेस से एजेंटों के लिए निकला और स्टेशनों पर पहुंच भी गया जिसकी फोटो सलंग्न है, देखी जा सकती है।

इसके बाद ऐसा कुछ हुआ कि अमर उजाला प्रबंधन ने यह सप्लाई वापस उठाकर प्रेस में मंगवा लिया। इसके बाद मुख पृष्ठ संशोधित किया गया। आज़म के समधी की खबर की जगह “14 लोगों को धर्म परिवर्तन कराता पादरी दबोचा, धुनाई” खबर प्रकाशित कर दुबारा से अखबार की सप्लाई भेजी गई।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here