क्रिकेट क्लब को बचाने के लिए एकजुट होंगे 200 खिलाड़ी

0
171

Faridabad/Alive News : शहर के सबसे पुराने विक्ट्री क्रिकेट क्लब को बचाने के लिए बुधवार को 200 से अधिक खिलाड़ी एकजुट होंगे। इनमें युवा खिलाडिय़ों से लेकर इंटरनेशनल स्तर के खिलाड़ी भी शामिल होंगे। यह खिलाड़ी ग्राउंड को लेकर विधायक सीमा त्रिखा, उद्योग मंत्री विपुल गोयल और डीसी अतुल कुमार को ज्ञापन देंगे। विक्ट्री क्लब का एनआईटी-3 स्थित ग्राउंड को लेकर स्कूल प्रबंधन के साथ विवाद चल रहा था। क्लब के पदाधिकारियों के अनुसार उन्होंने 31 साल पहले ग्राउंड को बनाया था।

उस समय से वह स्कूल के ग्राउंड की देखभाल कर रहे हैं। वह ग्राउंड पर केवल रविवार को ही क्रिकेट मैच खेलते हैं। वहीं समय-समय पर क्लब द्वारा स्कूल में बच्चों को सामान वितरित किया जाता है। स्कूल प्रबंधन ने उनके ग्राउंड पर जगह जगह गड्ढें खोद दिए हैं। जिससे उनके मैच नहीं हो सके। वहीं इस मामले में शिक्षा विभाग का कहना है कि शिक्षा निदेशालय के आदेश अनुसार सभी स्कूलों में पौधरोपण किया जा रहा है। यह गड्ढे पौधरोपण करने के लिए खोदे गए हैं।

वर्ष 1987 में हुई थी क्लब की स्थापना
विक्ट्री क्रिकेट क्लब की स्थापना वर्ष 1987 में हुई थी। इस क्लब ने स्थापना वर्ष से एनआईटी-3 स्थित गवर्नमेंट स्कूल में मैच खेलने के लिए ग्राउंड तैयार किया था। उस समय क्लब का चीफपैटर्न स्कूल के प्रिंसीपल केएल मक्कड़ को बनाया गया था। क्लब से देश के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज अजय रतरा, पूर्व रणजी खिलाड़ी संजय भाटिया, इंडिया अंडर.19 में खेलने वाले पंकज ठाकुर, नवीन नेगी, मनविंदर बीसला धर्मेंद्र फागना भी खेल चुके हैं। इसके अलावा आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलने वाले राहुल तेवतिया भी इस क्लब के सदस्य रह चुके हैं।

युवा क्रिकेटरों को आगे बढऩे का मौका देता है क्लब
क्लब के सदस्य विक्रम धारीवाल के अनुसार इस क्लब ने कई युवा क्रिकेटरों को आगे बढऩे का मौका दिया है। प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को टूर्नामेंट में क्लब अपनी तरफ से मैच खेलने का मौका देता है। इसके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर खिलाडिय़ों का पूरा सहयोग किया जाता है। वहीं एनआईटी-3 में पढऩे वाले स्कूली बच्चों को भी समय-समय पर जरूरत का सामान दिया जाता है। इसके बावजूद भी स्कूल प्रबंधन उन्हें परेशान कर रहा है।

कोट्स
क्रिकेट को बढ़ावा देने वाले सबसे पुराने विक्ट्री क्लब को जानबूझ कर स्कूल प्रबंधन परेशान कर रहा है। क्लब ने स्कूल की चारदीवारी और कमरे बनवाने में भी योगदान दिया है। इसकी शिकायत अब विधायक और डीसी से की जाएगी। पौधे हमेशा मैदान के साइड में लगाए जाते है। जबकि मैदान के बीच में जानबूझ कर गड्ढे खोदे गए हैं।
महेंद्र भाटिया, सदस्य, विक्ट्री क्लब

इस क्लब ने देश को कई नेशनल क्रिकेटर दिए हैं। इससे पहले क्लब के खिलाडिय़ों को परेशान करने के लिए उनका सामान बाहर फेंक दिया गया था। इस मामले में प्रशासन को भी दखल देना चाहिए। ताकि खिलाडिय़ों के लिए ग्राउंड बच सके।
संजय भाटिया, पूर्व रणजी खिलाड़ी।

क्या कहते है अधिकारी
स्कूल और क्रिकेट क्लब के बीच में चल रहे विवाद को लेकर पहले भी शिकायत मिली थी। स्कूल प्रबंधन से पूछा जाएगा कि उन्हें संडे मैच आयोजित होने से क्या परेशानी हो रही है। इसके बाद कोई एक्शन लिया जाएगा।
– सतेंद्र कौर, जिला शिक्षा अधिकारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here