Ballabgarh/Alive News : जून जल ही जीवन है, जल है तो कल है, वरना सब निष्फल हैं पानी को व्यर्थ में बर्वाद नहीं करें पानी के नाजायज दोहन पर रोक लगाये का संदेश जन जन तक पहुंचाने के लिए आज हरियाणा गवर्नमेंट मैकेनिकल वर्कर्ज यूनियन के प्रान्तीय प्रधान वीरेन्द्र सिंह डंगवाल ने कहा कि यूनियन के सैकड़ों कर्मचारियों ने बुधवार को पेयजल की सुरक्षा संरक्षण तथा बेहतर प्रबन्धन की मांग को लेकर जन जागरण अभियान रैली निकाली इसके माध्यम से जन मानस को पानी की बचत करने का संदेश दिया। ताकि अगली पीढियों के लिए काम आ सके।

श्योराज सिंह भाटी की अध्यक्षता में आयोजित की गई इस जल बचाओं रैली का संचालन वरिष्ठ उपप्रधान अत्तर सिंह ने किया।पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कर्मचारी स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह में एकत्रित हुए। यहां से रैली निकाते हुये बस स्टैन्ड से होते हुए अम्बेडकर चौक अग्रसेन चौक तथा मेन बाजार में गये कर्मचारियों के हाथों में जल ही जीवन है जल है अनमोल रतन इसे बचाने का करो यत्न इत्यादि नारों के बैनर थे। कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए विरेन्द्र सिंह डंगवाल ने बताया कि पानी प्रकृति की देन हैं यह अनमोल पदार्थ है जल के विना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना नहीं कि जा सकती हैं जल का जिवन से सीधा सम्बन्ध है पानी का कोई विकल्प नहीं है पानी पर समाज का अधिकार है पानी मुनाफा कमाने का साधन नहीं है।

कुछ लोगो को पानी का, नाजायज दोहने करने की छूट नहीं देनी चाहिए पिछले दशक में उदारीकरण और नीजिकरण के दौर में पानी में के क्षेत्र मे प्राइवेट कम्पनियों प्रवेश कर गई है सभी नीजी कम्पनियों भूमिगत जल का दोहन करती हैं पानी को शीतल पेय पदार्थ तथा विशलरी वाटर के रुप में बोतलों में बन्द करके बेचा जाता है। भारत में प्रतिवर्ष एक हजार लाख लीटर भूमिगत जल का दोहन हो रहा है भूमिगत जल के उपयोग के मामले में भारत दुनिया में सबसे आगे हैं ग्रामीण व शहरी भारत में पानी के परम्परागत सोत्र काफी सीमित है कुएं, तालाब, बावडियां नदियों सूख रही हैं|

हरियाणा में कृषि तथा उधोगों में अधिक पानी लगता है यहाँ पर शुद्ध भूमिगत जल को नये भवनों के निर्माण में प्रयोग किया जाता हैं हरियाणा के12जिले डार्क जौन घोषित हो चुके हैं यहां पर तीन सौ फुट तक पानी नहीं मिलता हैं यूनियन जनता में पानी को भविष्य में बचा कर रखने का आवाहन लेकर कल 20जून को प्रदेश के सभी मुख्यालयो पर रैली निकालेगी ताकि आम लोगों मे पानी की बर्बादी रोकने की भावना पैदा हो सके। अगली पीढीयों के लिए पानी बचाया जा सके। कार्यक्रम में अत्तर सिंह वरिष्ठ उपप्रधान, रमेश वर्मा, मोहन, राज कुमार ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here