UP में टला बड़ा ट्रेन हादसा, 8 डिब्बे पटरी से उतरे

0
17

Muradabad/Alive News : रामपुर के आगे धमौरा रेलवे स्टेशन के पास पैसेंजर ट्रेन की आठ बोगी पटरी से उतर गईं। ट्रेन मरम्मत के लिए बरेली जा रही थी। उसमें कोई भी यात्री नहीं था। हादसे में गार्ड सतीश चंद्र को गंभीर चोट आई है। वह रोजा स्टेशन पर तैनात हैं और शाहजहांपुर के रहने वाले हैं। दुर्घटना के चलते मुरादाबाद-बरेली रेल मार्ग को बंद कर दिया गया। रात साढ़े 12 बजे से ट्रेनों को बदले रूट मुरादाबाद-चन्दौसी-बरेली होते हुए निकाला गया। इसके बाद रात 1:17 बजे से लखनऊ से मुरादाबाद की ओर आने वाली ट्रेनों को धीमी गति से चलाना शुरू कर दिया गया।

हादसा बुधवार रात 10:24 बजे हुआ। 12 बोगी की पैसेंजर ट्रेन मरम्मत के लिए निजामउद्दीन स्टेशन से बरेली जा रही थी। ट्रेन में कोई भी यात्री नहीं था। सिर्फ इंजन में दो चालक और एक गार्ड ड्यूटी पर थे। चालक अमितेश कुमार, सह चालक अर्जित सिंह और गार्ड सतीश चंद्र को मुरादाबाद से ट्रेन में बरेली तक के लिए तैनात किया गया था। ट्रेन रामपुर से आगे बढ़ी तो धमौरा-दुगनपुर स्टेशन के बीच इंजन के पीछे की आठ बोगी पटरी से उतर गई। हादसे में गार्ड सतीश को गंभीर चोट आई है। हादसे की जानकारी कंट्रोल रूम को मिलते ही मुरादाबाद-बरेली रूट बंद कर दिया गया। दुर्घटना राहत ट्रेन घटनास्थल मौके पर पहुंच गई है। गार्ड को मौके पर ही डॉक्टर ने इलाज दिया है। उन्हें अंदरूनी चोटें आई हैं।

मंडल रेल प्रबंधक अजय कुमार सिंघल भी अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंच गए। रामपुर के एसपी शिवहरि मीणा भी मौके पर पहुंचे। हादसे के चलते दो सौ मीटर पटरी उखड़ गई है। साथ ही बिजली लाइन के तार भी टूट गए हैं। गार्ड सतीश ने बताया कि एक झटका लगा था उसके बाद ट्रेन पटरी से उतर गई। इधर, हादसे के चलते लखनऊ की ओर जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस, गरीब रथ, शहीद, नौचंदी, बेगमपुरा एक्सप्रेस, लखनऊ मेल समेत करीब 14 ट्रेनें रास्ते में खड़ी कर दी गईं।

हादसे के करीब डेढ़ घंटे बाद रात साढ़े 12 बजे से ट्रेनों को बदले रूट मुरादाबाद-चन्दौसी-बरेली होते हुए निकाला गया। रात 1:17 बजे से लखनऊ से मुरादाबाद की ओर आने वाली ट्रेनों को धीमी गति से चलाना शुरू कर दिया गया। मंडल रेल प्रबंधक अजय कुमार सिंघल ने बताया अभी घटना का कारण पता नहीं चल पाया है। हादसे से 15 मिनट पहले लोडेड मालगाड़ी गुजरी थी, इसलिए पटरी से छेड़छाड़ की आशंका नहीं है।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here