गुज्जरों के इमाम होंगे यूपी के नए सीएम !

0
19

New Delhi/Alive News: उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की जीत ऐतिहासिक बन कर उभरी है। पार्टी हाईकमान अपनी जीत से प्रफुल्लित है, वहीँ समस्त देश के पार्टी कार्यकर्ता भी कल से जश्न में डूबे हैं। भाजपा संसदीय कमिटी की ओर से इस जीत पर आज प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी का सम्मान समारोह भाजपा मुख्यालय में रखा गया है। आज समारोह में यह भी तय होगा कि उत्तर प्रदेश की कमान किसके हाथ में सौंपी जाय। हालांकि पार्टी हाईकमान और नरेंद्र मोदी की ओर से पहले ही कुछ नामो की लिस्ट बनाई जा चुकी है। लेकिन माना यह भी जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक में उनसे राय मशवरा करके ही अंतिम निर्णय पर पार्टी अपनी मुहर लगाएगी। एक तरफ चुनावी माहौल में जाति, धर्म, राम मंदिर, अल्पसंख्यकों व प्रदेश के पिछले इतिहास को देखकर मुख्यमंत्री चुना जाए तो उत्तर प्रदेश खुशहाल होगा। जीतने वाले विधायकों में कई चेहरे ऐसे भी हैं जो यूपी की अखण्डता को एकता में पिरो कर चलते आये। कुछ विधायक ऐसे हैं जो लगातार आठ बार भाजपा से विधायक बनते आ रहे हैं। यूपी को देखते हुए ऐसे विधायक को सी.एम की कमान सौंपनी होगी, जिसका राजनितिक अनुभव काफी पुराना हो तथा जो समाजिक, जातीय के साथ-साथ लोकप्रिय चेहरा हो। इसके अलावा वह नेता पार्टी हाईकमान की नज़रों में भी चढ़ा हो। ऐसी स्थिति में कमोवेश एक ही चेहरा है जो उपरोक्त मानकों को पूरा करता हुआ दिखता है। वह चेहरा फरीदाबाद के पूर्व सांसद एवम राष्ट्रीय गुज्जर नेता व हाल ही में उत्तर प्रदेश की मीरापुर विधानसभा से नवनिर्वाचित विधायक अवतार सिंह भड़ाना हैं। जो 1986 से राजनीति में सक्रिय हैं। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय देवीलाल ने इन्हें अपनी सरकार 1986 में पहली बार मंत्री बनाया था।
अवतार भड़ाना 1991 में कांग्रेस पार्टी से सांसद बने। 1999 में यू.पी के मेरठ से व तत्पश्चात 2004 व 2009 के लोकसभा चुनाव में फरीदाबाद सांसद चुने गए व 2014 तक सांसद रहे।
ज्ञात रहे कि अवतार भड़ाना के बड़े भाई करतार भड़ाना भी पिछली विधानसभा में उत्तर प्रदेश की खतौली विधानसभा से विधायक रहे। इतना ही नही फरीदाबाद में इन्हें गुज्जर इमाम के रूप में भी जाना जाता है। इसके अलावा अवतार व करतार भड़ाना की मजबूत पकड़ अल्पसंख्यकों के एक खास वर्ग में भी मानी जाती है। ज्ञात रहे की भाजपा हाईकमान ने बड़ा कद और अनुभवी नेता होने पर इन्हें भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाकर इनके अनुभव का फायदा लिया। इन खूबियों को देखते हुए भाजपा हाईकमान की नज़र इस नेता पर भी पड़ रही है। संदेह नहीँ कि गुज्जर नेता एवम नवनिर्वाचित विधायक अवतार भड़ाना को यूपी की बागडोर सौंपी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here