एसवाईएल का पानी नहीं मिलता, तब तक इनेलो का संघर्ष जारी रहेगा : अभय सिंह चौटाला

0
17

Gurugram/ Alive News : जलयुद्ध के नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौ. अभय चौटाला एसवाईएल नहर के आंदोलन को मजबूती देने और कार्यकर्ताओं से अधिक से अधिक संख्या में पहुँचने का आव्हान करने देर शाम गुरुग्राम के गांव बसई स्थित सामुदायिक केंद्र पहुँचे। जहाँ मुसलाधार बारीश के बावजूद सैंकड़ों की संख्या में एकत्रित हुए कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत की अगुवाई में चौ. अभय चौटाला का गांव बसई व इलाके की तरफ से सम्मान की सूचक पगड़ी बांधकर व फूलमालाओं से जोरदार स्वागत किया।

कार्यक्रम में बतौर मुख्यतिथि पहुँचे नेता प्रतिपक्ष चौ. अभय सिंह चौटाला ने मंच से अपने संबोधन में कहा कि जहाँ 10 साल के राज में कांग्रेस ने किसान की जमीनों को कोडि़यों के भाव बेच कर किसानों की कमर तोड़ने का काम किया था वहीं, आज भाजपा ने किसान की अनदेखी करते हुए किसान के साथ धोखा किया है। चौटाला ने कहा कि किसानों को अच्छे दिन के सपने दिखाकर व स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करवाने जैसे लोभ लुभावने वायदे कर किसानों का वोट हासिल करके भाजपा सत्ता में आई थी, लेकिन सत्ता में आने के बाद भाजपा ने किसान के हक के लिए एक भी फैसला नहीं लिया उलटा बीमा के नाम पर और अब जीएसटी के नाम पर किसान पर दोहरी मार मारने का काम किया।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एसवाईएल नहर हरियाणा की जनता की जीवन रेखा है जो माननीय सर्वोच्च न्यायालय की संवैधानिक पीठ ने हरियाणा के हिस्से का पानी अविलम्ब देने के फैसले के उपरान्त भी भाजपा की केन्द्र व प्रदेश की सरकार की उदासीनता इस सरकार के किसान विरोधी रवैये को उजागर करता है। इंडियन नैशनल लोकदल एसवाईएल की लड़ाई को सड़क से लेकर सदन तक मजबूती से लड़ रही है और जब तक हमें अपने हिस्से का पानी नहीं मिल जाता तब तक हमारा संघर्ष बदस्तूर जारी रहेगा। इसी कड़ी में उन्होंने कार्यकर्ताओं को आव्हान किया कि वे आगामी 10 जुलाई को भारी संख्यां में अम्बाला पंहुचकर कार्यक्रम को सफल बनाकर सरकार को चेताने का काम करें।

मंच से कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गोपीचंद गहलोत ने सरकार की झूठी घोषणाओं और वादा खिलाफी को उजागर करते हुए बताया कि इस फीता काटू सरकार में गुरुग्राम में जो भी शिलान्यास किए या आधारशिलाएँ रखी वहाँ काम सिरे चढ़ना तो दूर की बात हकीकत में वहाँ काम शुरू तक नहीं हुए। गहलोत ने मंच से जलयुद्ध के नायक चौ. अभय चौटाला को आश्वासन दिया कि चौ. अभय चौटाला जिस भी मोर्चे पर गुरुग्राम के कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाएँगे कार्यकर्ता वहाँ जान तक की बाजी लगा देंगे।

इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंतराम तंवर, गंगाराम पूर्व विधायक, किशोर यादव, रमेश दहिया, शमशेर कटारिया, ऋषिराज राणा, महेश चौहान, शैलेश खटाना, राजेश सुटा, अटलवीर कटारिया, राव मानसिंह, शशि धारीवाल, रविंदर काले प्रधान, कृष्ण प्रधान, रामे प्रधान, बेगराज गुर्जर, अत्तरसिंह रुहील, योगेश शर्मा, संतलाल जोतरीवाल, कपिल त्यागी, बिट्टू चौहान, अनूप कटारिया, काशीराम सरपंच, ऋषिपाल धनखड़, धर्मवीर बाघोरिया, बल्ले चैयरमैन, नरेश सहरावत, सुरेन्द्र तंवर, अमरपाल राठी, मोहन सैनी, सुखबीर तंवर, मेहरचंद दायमा, राजकुमार सहरावत, राकेश गर्ग, माँगेराम चौहान, शकील अहमद, राजबीर ठाकराण सरपंच, बाबू कृपाल सिंह, हरिकिशन सरपंच, सतीश राघव, राजपाल फौजी, सुरेन्द्र ठाकरान, अजित सिंह कटारिया, गौरव छौक्कर, कोकी ठाकराण, असलम खान, अशोक जाँगडा, विजय डागर, रणवीर चेयरमैन, रणधीर सिंह, रामपत सैनी, अतर सिंह सरपंच, गुरुदत्त शर्मा, नगेन्द्र डागर, दीपक डागर, नवल राणा, श्याम यादव, धर्मेंद्र प्रधान, राजेश त्यागी, ,पवन धनकोट, ईश्वर चेयरमैन, दलीप सरपंच, संजय यादव, अमरजीत कौर, सविता देवी, गीता रानी, राजरानी, नीतिन सैनी, तेजू राव, विक्की कटारिया कार्यकर्ता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here