क्या सच में 15 जून से लगेगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, जानिए इस खबर की सच्चाई

0
480

New Delhi/Alive News: देश में दो महीने से ज्यादा वक्त तक लॉकडाउन लागू होने के बाद केंद्र सरकार ने रियायत देने का सिलसिला शुरू किया है। इसी कड़ी में अनलॉक 1.0 लागू किया गया है। इस दौरान जिंदगी से सीधे जुड़ी सभी चीजों को सरकार धीरे-धीरे रियायत देती जा रही है। हालांकि अनलॉक 1.0 में कई राज्यों में कोरोना मरीजों की संख्या दोबारा बढ़ने लगी है। इस बीच इन दिनों सोशल मीडिया पर एक मैसेज जमकर वायरल हो रहा है जिसमें 15 जून से देश में दोबारा संपूर्ण लॉकडाउन किए जाने की बात कही जा रही है। इस मैसेज के वायरल होने के बाद कई लोगों में घबराहट पैदा हो गई है। इस मैसेज को एक समाचार चैनल का नाम लिखकर वायरल किया गया है जिससे लोगों में डर बढ़ रहा है। हालांकि प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने इस मैसेज को लेकर अब स्थिति साफ की है।

PIB ने बताई मैसेज की सच्चाई
प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) द्वारा एक ट्वीट जारी किया गया है जिसमें वायरल हो रहे इस मैसेज को फर्जी बताया गया है। पीआईबी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही एक फोटो में दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्रालय द्वारा ट्रेन और हवाई यात्रा पर प्रतिबंध के साथ 15 जून से देश में फिर से पूर्ण लॉकडाउन लागू किया जा सकता है।#PIBFactcheck- यह #Fake है। फेक न्यूज़ फैलाने वाली ऐसी भ्रामक फोटो से सावधान रहें।’

दावा: सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही एक फोटो में दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्रालय द्वारा ट्रेन और हवाई यात्रा पर प्रतिबंध के साथ 15 जून से देश में फिर से पूर्ण लॉकडाउन लागू किया जा सकता है।#PIBFactcheck- यह #Fake है। फेक न्यूज़ फैलाने वाली ऐसी भ्रामक फोटो से सावधान रहें।

देश इस वक्त बेहद मुश्किल दौर से गुजर रहा है। कोरोना संक्रमण की वजह से जिंदगी की रफ्तार थम सी गई है। ऐसे में कुछ असामाजिक तत्व इस कठिन वक्त में भी अफवाहें फैलाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। इसी कड़ी में 15 जून से संपूर्ण लॉकडाउन का फर्जी मैसेज वायरल किया जा रहा है।

इस तरह का फर्जी मैसेज वायरल करना कानूनन अपराध है और इस मैसेज को वायरल करने और इसे फॉर्वर्ड करने वाले लोगों को पुलिस आरोपी बनाकर साइबर अपराध के तहत मामला दर्ज कर सकती है।

Print Friendly, PDF & Email