Palwal/ Alive News (Vikram Vashishth) : पलवल के मुण्डकटी चौक पर एक दिवसीय विशाल दंगल का आयोजन किया गया। दंगल में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, दिल्ली व उत्तरप्रदेश के पहलवानों ने भाग लिया। दंगल में पी.के.सिन्हा प्रिसिंपल कमीश्नर जीएसटी व विनीत आर्य डिप्टी कमीश्रर कस्टम विभाग हरियाणा ने बतौर मु यतिथि शिरकत की। दंगल का आयोजन समाजसेवी चरण तेवतिया (कौंडल) व सदस्यों ने किया इस अवसर रामबीर गहलब, बलदेव अलावलपुर, ब्रिजमोहन एडवोकेट भी मौजूद थे।

दंगल के आयोजक चरण तेवतिया (कौंडल) ने बताया कि यह दंगल गत 34 वर्षो से मुण्डकटी चौक पर लगाया जाता है। दंगल को उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को निखारना है। उन्होंने बताया कि मुण्डकटी दंगल में भाग लेने वाले खिलाडियों ने राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश व प्रदेश का नाम रोशन किया है। दंगल में 21 हजार रूपए ,15 हजार रूपए व 11 हजार रूपए व 5100 रूपए की कुश्ती आयोजित की गई। दंगल में मु य अतिथियों व आयोजक समिति के चरण तेवतिया (कौंडल) व सदस्यों ने पहलवानों का हाथ मिलाकर कुश्ती शुरू करवाई।
कुश्ती के दौरान पहलवानों ने अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया और अपने प्रतिद्वंद्वी को हरा कर प्रतियोगिता में जीत हांसिल की। दंगल में 21 हजार रूपए की पहली कुश्ती हरिओम पहलवान समुंद्र सिहं अखाड़ा व जगबीर पहलवान फरीदाबाद लीलू अखाड़ा के बीच में हुई। यह कुश्ती बराबरी पर छूटी। इसके अलावा समशाद पहलवान जसराम अखाड़ा दिल्ली व भूरा पहलवान लाडपुर अखाड़ा रोहतक के बीच हुई यह कुश्ती भी बराबरी पर छुटी। तीसरी कुश्ती विक्की पहलवान हनुमान अखाड़ा दिल्ली व लक्षमण पहलवान धतीर अखाड़ा के बीच बराबरी पर छूटी। जबकि 11 हजार की कुश्ती शीशपाल पहलवान गोपाल बाग अखाड़ा मथुरा व संदीप पहलवान दिल्ली के बीच हुई जिसमें शीशपाल पहलवान विजयी हुए।

वहीं अजरूद्दीन पहलवान समुंद्र सिहं अखाड़ा व विनय पहलवान दिल्ली के बीच कुश्ती बराबरी पर छुटी। इसके अलावा 5100 रूपए की 8 कुश्ती आयोजित की गई। दंगल के आयोजक रतन सिहं सौरोत व समिति के सदस्यों ने मुख्यतिथियों का पगडी बांधकर व स्मृति चिन्हं देकर स्वागत किया। दंगल को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे।

राजकीय माध्यमिक विद्यालय रहराना में कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन

Palwal/ Alive News: जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के तत्वावधान में मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी एवं सचिव मोना सिंह के मार्गदर्शन में आज राजकीय माध्यमिक विद्यालय रहराना में विशेष कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत, कुमर सिंह यदुवंशी व पैराविधिक सेवक सुंदर लाल द्वारा किया गया।


शिविर में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत ने छात्रों व ग्रामीणों को बच्चों, महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, एसिड पीडिताओं, मानसिक रोगियों, नशा व गरीबी उन्मूलन स बन्धी नालसा योजनाओं, सडक़ सुरक्षा एक जीवन व पर्यावरण बचाओ जीवन बचाओ स बंधी जागरूकता अभियानों, यातायात नियमों, मौलिक कर्तव्यों, बाल विवाह, घरेलु हिंसा स बन्धी व पोक्सो एक्ट के बारे में जागरूक किया।
शिविर में पैनल अधिवक्ता कुमर सिंह यदुवंशी ने प्राधिकरण व स्थायी लोक अदालत सहित हेल्पलाइन 01275-298003 के बारे में जागरूक किया। शिविर में ग्रामीणों को विभिन्न मामलों में कानूनी सलाह मु त प्रदान की गई। उन्हें कानूनी पुस्तकें मुफ्त वितरित की गई। शिविर में विद्यालय के मौलिक मुखयाध्यापक महेंद्र सिंह व सुदेश आर्य, शकुंतला, पदम सिंह शिक्षकगण तथा नरेंद्र कुमार, राजेंद्र प्रसाद पंच, राकेश व राजेश पंच, सुखराम वशिष्ठ, लीलाधर आदि ग्रामीण भी मौजूद थे।

अध्यापन कार्य ईश्वरीय देन: प्राचार्य प्रताप सिंह

Palwal/ Alive News: राजकीय बहुतकनीकी शिक्षा समिति उटावड में एक ओरिंटेशन व मोटीवेशनल कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में संस्थान के प्राचार्य प्रताप सिंह चेची ने नए दाखिल हुए छात्रों को प्रयोगशाला, कोर्स व संस्थान के विभिन्न प्राधापकों से परिचित कराया तथा संस्थान की विभिन्न उपलब्धियों के बारे में भी बताया।


प्राचार्य प्रताप सिंह चेची ने छात्रों से कहा कि मेहनत व समय का सदुपयोग करने से सफलता के मूल रहस्यों को जाना जा सकता है। जिसे छात्रों ने बडी उत्सुकता से सुना व उसे अपने जीवन में धारण करने की प्रेरणा ली। प्राचार्य ने अवगत करवाया कि भविष्य में इस प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन होता रहेगा, जिसमें संस्थान के समस्त छात्र, विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ प्राध्यापक बढ चढ कर हिस्सा लेते रहेंगे। प्राचार्य ने कार्यक्रम में छात्रों को प्रेरित करने हेतु विभिन्न हस्तियों के परिश्रम व लगन के उदाहरण प्रस्तुत किए. जिसकी वजह से उन्होंने अपने जीवन में उंचाईयों को छुआ। उन्होंने बताया कि संस्थान में पढाई का वातावरण जोरों पर है और छात्र अपनी कक्षाओं में नियमित रूप से उपस्थित हो रहे हैं। प्राचार्य ने बताया कि संस्थान में कार्यरत प्रत्येक कर्मचारी/अधिकारी का मूल कर्तव्य छात्रों को अच्छी से अच्छी शिक्षा प्रदान करना है। जिसके लिए प्राचार्य व समस्त शिक्षकगण किसी भी प्रकार की कोई कसर नहीं छोडेंगे।
कार्यक्रम में सभी विभागाध्यक्षों ने छात्रों को अपने-अपने विभागों की विशेषताओं से अवगत करवाया। कर्मशाला अधीक्षक शशि भूषण जांगरा ने कर्मशाला की मशीनों व इन पर कार्य करते समय बरती जाने वाली सावधानियों से छात्रों को अवगत करवाया। कार्यक्रम में सभी छात्रों को ड्रेस कोड में आने के लिए कहा व रैगिंग जैसे अपराध से दूर रहने के बारे में भी बताया। मंच का संचालन वरिष्ठ प्राध्यापक ज्ञानचंद शर्मा ने किया। उन्होंने छात्रों को जीवन में सफलता प्राप्त करने के संदर्भ में प्रेरणादायक कहानियां सुनाई और छात्रों को जीवन में कर्म का महत्व भी बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here